Breaking News

मिशन परिवार विकास अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर प्रखंड टास्क फोर्स की बैठक




प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी की अध्यक्षता में हुई बैठक

शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल करने का दिया निर्देश

अभियान को सफल बनाने में अंर्तविभागीय समन्वय जरूरी


छपरा। जिले में मिशन परिवार विकास अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर गड़खा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी  डॉ पंकज आर्यन की अध्यक्षता में प्रखंड स्तरीय टास्क फोर्स समिति की बैठक आयोजित की गयी।  जिसमें मिशन परिवार विकास के सफल क्रियान्वयन को लेकर चर्चा की गयी। शत-प्रतिशत लक्षय की प्राप्ति के लिए अंर्तविभागीय समन्वय स्थापित कर कार्य करने के लिए निर्देश दिया गया। बैठक में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ पंकज आर्यन ने बताया एचएससी स्तर पर परिवार नियोजन मेला का आयोजन किया जाएगा। 27 से 30 जनवरी तक एचएससी स्तर पर मेला लगाया जाएगा। जिसमें प्रत्येक मेला में 20 लाभार्थियों को लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि परिवार नियोजन को बढ़ावा देने व आम जनमानस को जागरूक करने के उद्देश्य से ई रिक्शा के माध्यम से प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है।  प्रजनन दर एवं जनसंख्या वृद्धि में कमी लाने के लिए मिशन परिवार विकास अभियान चलाया जा रहा है। मिशन परिवार विकास को सफल बनाने में सभी विभागों का आपसी समन्वय होना आवश्यक है। बैठक में गरखा सीडीपीओ, बीएम, बीसीएम, केयर बीएम प्रशांत कुमार सिंह,एएनएम गीता कुमारी, सरोज कुमारी समेत अन्य मौजूद थे।


 


पुरुषों की भागीदारी पर अधिक बल:


केयर इंडिया के बीएम प्रशांत कुमार सिंह ने बताया कि सभी स्वास्थ्य संस्थानों के प्रभारी 14 से 20 जनवरी तक दम्पती  संपर्क सप्ताह का आयोजन किया जायेगा करेंगे। आमजन  में जागरूकता लाने के लिए सही उम्र में शादी, शादी के कम से कम दो साल के बाद पहला बच्चा, दो बच्चों में कम से कम तीन साल का अंतर, प्रसव पश्चात या गर्भपात पश्चात परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधान एवं परिवार कल्याण ऑपरेशन में पुरुषों की भागीदारी पर अधिक बल दिया जाएगा। साथ ही इस दौरान परिवार कल्याण कार्यक्रम अन्तर्गत उपलब्ध अस्थायी एवं स्थायी उपायों के बारे में भी जानकारी दी जाएगी।  21 से 31 जनवरी तक परिवार नियोजन सेवा सप्ताह का चलेगा।




सास बहु बहू सम्मेलन का होगा आयोजन:


 परिवार नियोजन पर अलख जगाने की नई पहल की गयी है। सास-बहू एवं बेटी के माध्यम से परिवार नियोजन पर जागरूकता फैलाई जा जाएगी। मिशन परिवार विकास अभियान के दौरान सास-बहू व बेटी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। सम्मेलन के कुशल क्रियान्वयन की जिम्मेदारी एएनएम को सौंपी गई है।


इन बिन्दुओं पर किया जायेगा जागरूक:


विवाह के सही उम्र, लड़के के 21 एंव लड़की की 18 वर्ष

शादी के बाद कम से कम दो वर्ष बाद पहला बच्चा

पहले एंव दूसरे बच्चे में कम से कम तीन साल का अंतराल

छोटा परिवार एंव समिति परिवार के लाभ

परिवार नियोजन के स्थाई एंव अस्थाई साधन के बारे में जानकारी

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।