Breaking News

जालसाजी कर खाते से रुपये उड़ाने वाले गिरोह के दो गिरफ्तार, जेब में नोट देखकर पुलिस को हुआ शक, वाहन चेकिंग के दौरान पकड़ा

 


जालसाजी कर खाते से रुपये उड़ाने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पत्रकारनगर थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गये शातिरों में अखिलेश कुमार (गंगटी, नालंदा) और राकेश कुमार सत्या (झौर, बेन, नालंदा) शामिल हैं। पुलिस ने दोनों के पास से कई बैंकों के चार एटीएम कार्ड, मोबाइल, 1.20 लाख नकद और एक बाइक बरामद की है। 

मलाही पकड़ी के समीप से बीते रविवार की शाम दोनों को पकड़ा गया। थानेदार मनोरंजन भारती के मुताबिक ये लोग एटीएम ब्लॉक होने के नाम पर लोगों से उनके कार्ड की डिटेल जान लेते थे। फिर ओटीपी पूछकर रुपये ट्रांसफर कर लेते थे। इसके अलावा एटीएम में लोगों को मदद करने के नाम पर उनके कार्ड को बदल लिया जाता था। इस गिरोह का सरगना मनीष है, जिसकी तलाश में पुलिस अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है।

जेब में नोट देखकर पुलिस को हुआ शक 
दरअसल, जिस वक्त वाहनों की चेकिंग की जा रही थी, दोनों बाइक सवार युवकों ने पुलिस को देखकर भागने की कोशिश की। लेकिन पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया। उसी वक्त पुलिस का ध्यान बाइक चला रहे अखिलेश पर गया। जींस की जेब को देखकर पुलिस ने पूछताछ की तो अखिलेश ने कहा कि इसमें एक लाख से अधिक रुपये हैं। फौरन दोनों को थाने लाकर पूछताछ की गयी। इसके बाद शातिरों ने बताया कि वे लोगों जालसाजी कर उनके खाते से रुपये उड़ा लिये करते हैं।

बैंक खातों का इस्तेमाल करने के बदले देते थे 500 रुपये 
बैंक खातों का इस्तेमाल करने के बदले जालसाज लोगों को हर दिन 500 रुपये देते थे। इनमें गरीब तबके के लोग शामिल होते थे। जालसाजी से रुपये उड़ाने के बाद उन्हें इन्हीं खातों में ट्रांसफर करवा लिया जाता था। इसके बाद उसे आधे घंटे के भीतर ही जालसाज निकाल लिया करते थे।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।