Breaking News

सबसे पहले सफाईकर्मी पति-पत्नी ने लिया कोरोना का वैक्सीन, बोला- मैं स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं



टीका लगने के बाद आधा घंटे तक किया गया अवलोकन

सभी ने एक सुर में कहा- पूरी तरह से सुरक्षित वैक्सीन

अब दूसरों को करेंगे वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित


छपरा/ 16, जनवरी। जिले में शनिवार को कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरूआत की गयी। टीका लगवाने के लिए शहर के चिकित्सकों व कर्मचारियों में उत्सुकता देखी गई। सदर अस्पताल के टीकाकरण केंद्र में सबसे पहले सफाईकर्मी शिवनंदन बासफोड़ व उनकी पत्नी अकली देवी को टीका लगाया गया। टीका लगावाने के बाद शिवनंदन बासफोड़ ने कहा  यह उनका  सौभाग्य है कि  उन्हें जिले में  पहला टीका लगवाने का मौका मिला., जिन्हें यह टीका लगवाने का अवसर मिल रहा है वह चूकें नहीं। यह दोनों पति-पत्नी सदर अस्पताल के आईसोलेशन सेंटर में सफाई का काम करते है। दोनों ने आम नागरिकों को महाअभियान में शामिल होने की अपील की। उन्होंने कहा  कोरोना का स्वदेशी टीका पूरी तरह सुरक्षित है। टीका लगवाने के बाद  वह  पहले से भी बेहतर महसूस कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण के दौरान पति-पत्नी ने  जिस तरह आईसोलेशन सेंटर साफ-सफाई कोरोना योद्धा की भूमिका को निभाया है। अब उससे भी ज्यादा सेवा भाव टीका लगने के बाद उनके मन में जागृत हुआ है।



मैं स्वयं को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं: शिननंदन

टीकाकरण महा अभियान के तहत टीका लगाने के लिए सबसे पहले चयनित होने वाले सफाई कर्मचारी शिवनंदन बासफोड़ के लगने के बाद पूरी तरह से स्वस्थ है। उन्होंने कहा  उन्हें  गर्व है इस बात का कि  वह  कोरोना योद्धा के रूप में काम कर  रहे हैं. 


मुझे मिला सुरक्षा कवच: अकली देवी

सदर अस्पताल में सफाई का काम करने वाली अकली देवी को दूसरे नंबर पर टीका लगाया गया। उन्होने कहा   उनके  मन में टीकाकरण को लेकर  किसी तरह का कोई डर नहीं है।  वह  पूरी तरह से स्वस्थ  हैं. ‘‘मुझे आज सुरक्षा कवच मिला है। अब और मजबूती के साथ अपने कर्तव्यों को निभाऊंगी। मुझे खुशी है कि सरकार ने मुझे यह मौका दिया’’।


दूसरे को भी करूंगा प्रेरित: पप्पू कुमार

सदर अस्प्ताल के एंबुलेंस चालक पप्पू कुमार को तीसरे नंबर पर टीका लगाया गया। उन्होने कहा - ‘‘टीका लगाने के बाद किसी तरह की कोई परेशानी या घबड़ाहट महसूस नहीं हुई. मैं पूरी तरह से नार्मल हूं। हमारे देश के वैज्ञानिकों द्वारा बनाया गया है. टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। मैं टीकाकरण के लिए दूसरे लोगो को भी प्रेरित करूंगा। वैज्ञानिकों ने कोरोना से मुक्ति दिलाने संजीवनी के रूप में यह वैक्सीन तैयार की है। टीकाकरण करवाकर स्वयं व स्वजन और समाज की रक्षा करें। अफवाहों पर न जाएं, कोरोना का वायरस जानलेवा है और वैक्सीन जीवनदायनी।‘’



सुरक्षित टीका है, मैंने लगवाया:

सदर अस्पताल के स्वासथ्य प्रबंधक राजेश्वर प्रसाद ने  बताया  कोरोना का टीका  सुरक्षित  है।  उन्होंने कहा उन्होंने खुद टीका लगवाया और सहज भी महसूस  रहे हैं.  भ्रम व भ्रांतियों पर ध्यान न दें लोग सामने आए टीका लगवाएं यह पूर्णत: सुरक्षित है। नागरिकों को किसी भी तरह से भयभीत नहीं होना चाहिए। टीका लगने के बाद मेरा उत्साह पहले से कई गुना बढ़ गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।