Breaking News

तीसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों को लगेगा कोविड-19 का टीका



प्रथम चरण में स्वास्थ्यकर्मियों व दूसरे में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं का किया जायेगा टीकाकरण
• कोविड-19 टीकाकरण को लेकर मंत्रालय ने जारी किया एडवाइजरी
• वोटर आईडी कार्ड से पहचान कर लगेगा टीका

छपरा। वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार तमाम प्रयास किये जा रहे है। कोविड-19 टीकाकरण को लेकर तैयारी व्यापक स्तर पर की जा रही है। इसी कड़ी में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोविड टीकाकरण को लेकर एक एडवाइजरी जारी किया है। जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि कोरोना टीकाकरण के लिए ज्यादा उम्र के लोगों की पहचान के लिए मतदाता सूचियों का इस्तेमाल किया जाएगा। टीकाकरण के पहले चरण में स्वास्थ्य कार्यकर्ता, दूसरे चरण में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता तथा तीसरे चरण में 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा।
आपको बता दें कि बुजुर्गों भी दो उप श्रेणियां बनाई जाएंगी। एक 50-60 साल की उम्र का समूह तथा दूसरा 60 साल से ऊपर के लोगों का समूह। इसके लिए लोकसभा या विधानसभा चुनावों में इस्तेमाल होने वाली मतदाता सूचियों का इस्तेमाल किया जायेगा।

टीकाकरण के लिए विशेष सत्रों का होगा आयोजन:
एडवाइजरी में कहा गया है कि तीन उपरोक्त श्रेणियों के बाद चौथी श्रेणी में 50 साल से कम उम्र के वे लोग शामिल किए जाएंगे, जो किसी बीमारी से ग्रस्त हैं। बाकी लोगों को टीका महामारी के फैलाव के आधार या टीके की उपलब्धता के अनुसार दिया जाएगा। एडवाइजरी में कहा गया है कि टीकाकरण के लिए विशेष सत्रों का आयोजन किया जाएगा। साथ ही कोरोना टीकाकरण के लिए कोई दिन भी निर्धारित किया जाएगा।

पांच सदस्यी टीम का होगा गठन:
एक सत्र में 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। टीकाकरण के लिए पांच सदस्यीय टीम बनाई जाएगी। इस टीम में एक डॉक्टर या स्वास्थ्य कार्यकर्ता, दूसरा सुरक्षाकर्मी, तीसरा पहचान पत्र की पुष्टि करने वाला व्यक्ति होगा। जबकि दो लोग भीड़ आदि प्रबंधन का जिम्मा देखेंगे। टीकाकरण बूथ मतदान बूथ जैसा होगा। जहां एक-एक व्यक्ति अपनी पहचान की पुष्टि कराकर वोट डालता है। यहां इसी तरह से टीका लगाया जाएगा।

समुदाय को किया जायेगा जागरूक:
कोविड-19 टीकाकरण को लेकर गांव स्तर पर समुदाय को जागरूक किया जायेगा। इसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ साथ आईसीडीएस, पंचायती राज, शिक्षा विभाग, ग्रामीण विकास, शहरी विकास, आयुष, पुलिस विभाग सहित अन्य कई विभागों का सहयोग लिया जायेगा। समुदाय को जागरूक करने के लिए ग्राम सभा, नुक्कड़ नाटक, जागरूकता रैली का आयोजन किया जायेगा। जागरूकता अभियान नेहरू युवा केंद्र व एनएसएस का भी सहयोग लिया जायेगा।

तैयार हो रही है लाभार्थियों की सूची:
सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जिलास्तर पर निजी व सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों का डेटा बेस तैयार किया जा रहा है। कर्मियों का डेटा कोविड-19 टीकाकरण के लिए पोर्टल पर अपलोड किया जा रहा है। पोर्टल अपलोड डेटा के अनुसार हीं टीका उपलब्ध होगा। पहले चरण स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जायेगा। सूची तैयार करने का कार्य तेजी से किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।