Breaking News

पटना: लापता हुए चावल कारोबारी बंधुओं का 5 दिनों बाद भी नहीं मिला कोई सुराग, परिजनों की उड़ी नींद, पिता बेसुध



नौबतपुर से अपहृत चावल कारोबारी बंधु राकेश कुमार गुप्ता व अमित कुमार का अबतक कोई सुराग नहीं मिल सका है। जांच में जुटी एसआईटी के हाथ आखिरी सीसीटीवी फुटेज मिलने के अलावा नया कुछ भी हाथ नहीं लग सका है। 

सुराग के लिए पुलिस अब मोबाइल का टावर डंप खंगालने में जुट गई है। इसके जरिये पुलिस यह जानने का प्रयास कर रही है कि घटना के वक्त उस इलाके में कितने मोबाइल नंबर सक्रिय रहे हैं और किन-किन नंबरों पर किससे बात हुई है। टावर डंप में एक मिनट में हजारों कॉलें मौजूद होती हैं। हालांकि घटना के बाद से ही अपहृत कारोबारी बंधुओं के एक मोबाइल का स्विच ऑफ है जबकि दूसरा मोबाइल गाड़ी में मिला था, जो कि पुलिस के कब्जे में है। एसएसपी उपेंद्र शर्मा का कहना है कि पुलिस टीम लगातार कारोबारियों तक पहुंचने के प्रयास में जुटी हैं, लेकिन अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। 

पांच दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। अपहृत राकेश कुमार गुप्ता बिहार राज्य राइस मिल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष हैं। पांच दिन पूर्व वह अपने भाई अमित के साथ पार्टनर से हिसाब करने नौबतपुर गये थे। जहां से दोनों अबतक घर नहीं लौटे हैं। जांच में जुटी पुलिस अबतक कुछ स्पष्ट बताने की हालत में नहीं है। जैसे-जैसे समय गुजर रहा है, पुलिस पर दबाव बढ़ता जा रहा है। इस मामले में परिजन डीजीपी से भी मिल चुके हैं। 

कारोबारियों के पिता भरत प्रसाद की हालत खराब है। दोनों बेटों के सकुशल घर वापस आने का उन्हें इंतजार है। परिजन नौबतपुर थाने से लेकर पुलिस अफसरों के दरवाजे का चक्कर लगा रहे हैं और पुलिस केवल आश्वासन दे रही है। घटना के बाद से ही पिता बेसुध हैं और परिजन हैरान। रिश्तेदारों का घर पर आना-जाना लगा है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।