Breaking News

पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान का किया जा रहा है सघन अनुश्रवण

 

• डीआईओ डीपीएम समेत अन्य अधिकारियों ने किया क्षेत्र का दौरा

• डोर टू डोर टीम से लिया जायजा


• कोविड-19 सुरक्षा मानकों का रखा जा रहा है विशेष ख्याल


छपरा। जिले में पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान की शुरुआत की गई है जिसके तहत आशा कार्यकर्ता व अन्य स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो की दवा पिला रहे हैं। पल्स पोलियो अभियान को सफल बनाने के लिए लगातार क्षेत्र भ्रमण कर जिला व प्रखंड स्तर पर सघन अनुश्रवण किया जा रहा है।इसी क्रम में अधिकारियों ने जिले के रिविलगंज, एकमा, मांझी, दाउदपुर समेत अन्य कई क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने पल्स पोलियो अभियान में लगाए गए टीम को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। इस दौरान अधिकारियों ने गांव के लोगों से भी फीडबैक लिया कि उनके बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई गई है या नहीं। जो बच्चे पोलियो की दवा से वंचित रह गए हैं उन्हें अवश्य दवा पिलाने के लिए अपील किया गया। इस दौरान जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा, जिला स्वास्थ समिति के डीपीएम अरविंद कुमार, जिला स्वास्थ समिति के जिला मूल्यांकन सह अनुश्रवण पदाधिकारी भानु शर्मा, यूनिसेफ के एसएमसी आरती त्रिपाठी, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉक्टर रंजीतेश कुमार मौजूद रहे। 


6 लाख से अधिक बच्चों को किया गया है लक्षित:


जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा ने बताया कि पल्स पोलियो अभियान के तहत जिले में 642234 बच्चों को लक्षित किया गया है वहीं जिले में 602478 घरों को चिन्हित किया गया है। इसके लिए जिले में 1471 डोर टू डोर टीम, 298 ट्रांजिट टीम, 43 मोबाइल टीम, 545 सुपरवाइजर को लगाया गया है।



ईट-भट्ठा व भ्रमण शील आबादी वाले क्षेत्रों में विशेष ध्यान:


यूनिसेफ एसएमसी आरती त्रिपाठी ने बताया कि पल्स पोलियो अभियान के तहत जिले में दूरदराज के क्षेत्रों जैसे ईट भट्टा प्रवासियों में भ्रमण शील आबादी वाले क्षेत्र पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा रहा है। यहां के बच्चों को पोलियो की खुराक लेने से वंचित ना रहे। इसके लिए विशेष निगरानी दल गठित किया गया है। सभी कर्मियों को यह निर्देश दिया गया है कि पोलियो की खुराक से कोई नहीं बचा वंचित नहीं रहना चाहिए इसका अनुपालन सुनिश्चित करें। 


सभी को मास्क व ग्लब्स पहनना अनिवार्य:


डीपीएम अरविंद कुमार ने कहा कि पल्स पोलियो अभियान के दौरान कोविड-19 से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। सभी कर्मियों को क्या आदेश दिया गया है कि किसी भी परिस्थिति में प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं किया जाए। अभियान के दौरान सभी को मास्क व ग्लब्स का इस्तेमाल, शारीरिक दूरी का पालन करना अनिवार्य है। सभी कर्मियों को मास्क, ग्लोब्स व सैनिटाइजर उपलब्ध कराया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।