Breaking News

गांधी जयंती के अवसर पर आंगनबाड़ी सेविकाओं ने किया पौधारोपण



• जिले के सभी प्रखंडों में पौधारोपण कार्यक्रम का किया गया आयोजन

• आईसीडीएस निदेशालय के निर्देश के आलोक में पौधारोपण कार्यक्रम आयोजित


• पौधा लगाने के लिए आम जनों को भी किया गया प्रेरित

• बच्चों एवं आम लोगों को स्वच्छता के प्रति किया गया जागरूक


छपरा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जयंती के अवसर पर जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर सेविकाओं के द्वारा पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। आईसीडीएस निदेशालय के निर्देश पर जिले के सभी प्रखंडों में पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान सेविकाओं के द्वारा फलदार पौधे लगाए गए। आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका, सहायिकाओं द्वारा घर-घर जाकर पोषण से संबंधित फलदार पौधे लगाए गए। सेविकाओं ने आम, पपीता एवं शरीफा आदि के पौधे लगाए तथा इसके गुणों को बताया। लाभुकों को पौधों की देखरेख करने के लिए प्रेरित किया गया। डीपीओ बंदना पांडेय ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिए पौधारोपण अति आवश्यक है। सभी को एक पेड़ जरूर लगाना चाहिए। जहां हरियाली होगी, वहीं खुशहाली होगी। इस उद्देश्य के साथ पौधारोपण का कार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि पौधारोपण के साथ पौधों की सुरक्षा करना भी जरूरी है। पौधे लगाने के बाद उसके अच्छी तरह से देखभाल करें तथा नियमित रूप से पानी देते रहें ताकि पेड़ -पौधे सूखे नहीं और भविष्य में एक बड़ा पेड़ के रूप में हमें स्वच्छ हवा, फल, छाँव जैसे सुविधा प्राप्त हो सके। 


स्वच्छता अभियान पर भी  जोर:


आईसीडीएस के डीपीओ बंदना पांडेय ने बताया कि महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर पौधारोपण के साथ ही स्वच्छता पर भी जोर दिया गया। आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा क्षेत्र भ्रमण पर बच्चों को उनके माता-पिता को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया।  इस मौके पर पूरे जिले में एक साथ स्वच्छता के लिए अभियान चलाया गया। सेविकाओं ने कहा कि हमलोग स्वच्छता के प्रति गंभीर है।  देश को स्वच्छ बनाने के लिए ख़ुद गंदगी नहीं फैलाने और  दूसरों को गंदनी फैलाने से रोकने की जरूत है। तभी हमारा देश स्वच्छ बन पायेगा।


लगाए गए यह पौधे:


आईसीडीएस के जिला परियोजना सहायक आरती कुमारी ने बताया कि आंगनबाड़ी सेविकाओं के द्वारा अपने-अपने पोषक क्षेत्रों में कई फलदार पौधे लगाए गए। जिसमें पपीता शहजान आम अमरूद तुलसी के पौधे शामिल है।


स्लोगन के माध्यम से किया गया जागरूक:


राष्ट्रीय पोषण मिशन के जिला समन्वयक सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि  सेविकाओं के द्वारा स्लोगन लेखन के माध्यम से आम जनों को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया तथा अधिक से अधिक पौधे लगाने के लिए प्रेरित भी किया गया। सेविकाओं द्वारा- जहां हरियाली वहां खुशहाली, भविष्य हमारा खुशहाल बनेगा अगर आज से वृक्ष बचेगा, एक जीवन हर आंगन स्वच्छ पर्यावरण, पेड़ पौधे हैं मानव के लिए वरदान मत करो इनका अपमान एवं जागरूक बनिए वृक्षों को काटने से बचिए जैसे स्लोगन के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।