Breaking News

पोलियो अभियान की सफलता को लेकर प्रखंडों में निकाली गई जागरूकता रैली

 


• 11 अक्टूबर से चलेगा पांच दिवसीय पल्स पोलियो अभियान

• अभियान को सफल बनाने के लिए माइक्रो प्लान बनाया गया

• कोविड-19 से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल का किया जाएगा पालन


गोपालगंज।  जिले में 11 अक्टूबर से चलने वाले पल्स पोलियो अभियान की सफलता को लेकर प्रखंडों में व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान की शुरुआत की गई है।  आशा कार्यकर्ता व स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा जागरूकता रैली निकाल कर आम जनों को दो बूंद जिंदगी के महत्व के बारे में जानकारी दी गई। शनिवार को जिले के बैकुंठपुर, मांझा, कुचायकोट प्रखंड समेत अन्य प्रखंडों में स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। कुचायकोट में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ शाहिद नजमी के द्वारा हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया गया। रैली के माध्यम से आशा कार्यकर्ताओं ने लोगो  को इस अभियान में अपनी सहभागिता सुनिश्चित कराने के लिए प्रेरित किया। यूनिसेफ के जिला समन्वयक रूबी कुमारी ने बताया कि भारत से पोलियो का पूर्ण रूप से उन्मूलन हो चुका है। लेकिन एक भी बच्चा पोलियो ग्रस्त न हो इसके लिए सरकार के द्वारा पोलियो अभियान चलाया जा रहा है। स्वयंसेवी संस्थाओं के द्वारा चौक चौराहों एवं घर घर जाकर शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को पल्स पोलियों की खुराक देनी है। उन्होंने  कहा कि लोग अपने अगल-बगल के परिवार वालों की इसकी सूचना दें कि शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएं । अगर पोलियो की खुराक से कोई बच्चा छूट जाता है तो यह सही नहीं है।अभिभावकों को समझाया कि वह अपने बच्चों को पोलियो की खुराक अवश्य दिलवाएं ताकि इस बीमारी का भारत से पूर्ण रुप से उन्मूलन किया जा सके। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक अजीत कुमार, डॉक्टर विभूति प्रसन्ना, यूनिसेफ के बीएमसी मुकेश कुमार, केयर इंडिया के रंजीत सिंह, विनायक कुमार, जीएनएम स्नेहलता सिन्हा, रूबी, शोभा सिन्हा, सुमन कुमारी एवं उमेश तिवारी, बैकुंठपुर में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अनिल कुमार सिंह, डॉ मनीष कुमार, बीसीएम नीरू सिंह, यूनिसेफ बीएमसी हिमांशु कुमार, मांझा में बीएमसी नवीन कुमार,बीएचएम अंचल अप्रितम, बीसीएम अरुण कुमार उपस्थित थे। 



सड़कों पर गुंजा "दो बूंद दवा, पोलियो हवा" की नारा:


रैली के दौरान आशा कार्यकर्ताओं ने तख्तियों पर कई स्लोगन के माध्यम से लोगों को प्रेरित करने की सफल प्रयास की।  इस दौरान दो बूंद दवा पोलियो हवा, दो बूंद की हस्ती से पोलियो मिटेगी बस्ती से,  दो बूंद मस्त-मस्त पोलियो पस्त  जैसे प्रेरक स्लोगन के माध्यम से लोगों को जागरूक किया गया। 


सोशल डिस्टेंस के साथ होगा टीकाकरण:


जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ शक्ति कुमार सिंह ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए टीकाकर्मी को संक्रमण से बचाव हेतु मास्क, ग्लब्स, सेनिटाइजर उपलब्ध करना सुनिश्चित कराने हेतु सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है। साथ ही टीकाकारण के दौरान उचित शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित तौर पर किया जाएगा।



दो चरणों में  चलेगा पोलियो अभियान:


जिले में 11 से 15 अक्टूबर 2020 एवं 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। अभियान के दौरान नवजात शिशु को पोलियो की खुराक पिलाए जाने पर विशेष ध्यान दिया जाए एवं खुराक पिलाने के पश्चात नियमित टीकाकरण के ड्यू लिस्ट में समाहित किया जाएगा। सभी दल कर्मियों के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी। मुख ट्रांजिट स्थलों जैसे बस स्टैंड रेलवे स्टेशन एवं चौक चौराहों से गुजरने वाले बच्चों पर विशेष ध्यान देते हुए प्रतिरक्षण सुनिश्चित किया जाए। ट्रांजिट स्थलों पर प्रशिक्षित टीका कर्मियों को ही कार्य पर लगाया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।