Breaking News

दस दिवसीय 240 समकालीन, युवा कलाकारों की प्रदर्शनी में चयनित हुये चंपारण के मधुरेंद्र की कला

 




द्वितीय ऑनलाइन राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी में शहीदों की शहादत को  ताजा कर रहीं हैं, अंतराष्ट्रीय रेत कलाकार मधुरेंद्र की कलाकृतियां


 मोतिहारी, पूर्वी चंपारण: पूरे विश्व में कोरोना जैसे जानलेवा बीमारी के कारण लॉक डाउन की स्थिति में बिहार ललित कला शिक्षक संघ पटना के द्वारा आयोजित द्वितीय राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी किया गया है। इस डिजिटल प्लेटफॉर्म पर 240 समकालीन व युवा कलाकारों की कला को चयनित कर प्रदर्शित किया गया है। उक्त कला प्रदर्शनी में पूर्वी चंपारण जिले के अंतरराष्ट्रीय स्तर के युवा रेत कलाकार मधुरेंद्र का नाम भी चयन किया गया और इनके द्वारा रेत पर बनाए गए शहीदों की शहादत की कलाकृति को भी डिजिटल प्लेटफॉर्म पर प्रदर्शित किया गया है। दुरभाष पर इसकी जानकारी देते संघ के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कुमार नेचर ने सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र को बताया कि आपका नाम द्वितीय ऑनलाइन राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी- 2020 में सम्मिलित किया हैं। इसकी पुष्टि करते संयोजक राजकुमार सिंह ने ईमेल पर आमंत्रण-भेज मधुरेन्द्र को शुभकामना दी।


बता दे कि संघ के द्वारा कोविड-19 को देखते हुए डिजिटल प्लेटफॉर्म पर द्वितीय राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी का आयोजन संघ के वेबसाइट, फेसबुक व यूट्यूब पर 30 अक्टूबर तक ऑनलाइन प्रदर्शित किया गया है। इस समारोह का उद्घाटन बिहार ललित कला अकादमी पटना के पूर्व  अध्यक्ष सह वरिष्ठ कलाकार आनंदी प्रसाद बादल के द्वारा किया गया। 


गौरतलब हो कि देश के कोने-कोने से 240 समकालीन कलाकारों ने अपनी भावनाओं को कलाकृतियों के माध्यम से कला प्रेमियों, आमजनों,एवं समाज के समक्ष प्रस्तुत किए हैं। जिसमें कोविड-19, आस्था, प्रेम,त्याग, बुद्धा, नारी शक्तिकरण, संघर्ष का भाव स्पष्ट दिखाया गया है। इधर सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र को कला प्रदर्शनी में जगह मिलने पर ग्रामीणों समेत पूरे चंपारण वासियों में काफी हर्षोल्लास हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर (SUBHAKAR MEDIA PRIVATE LIMITED) वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।