Breaking News

राष्ट्रीय लेखक मंच दे रहा है नए कलमकारों को मंच:इरशाद

 


सारण: शहर में आज लेखक दे  रहा है नए नए कलमकारों को  मौका हमारे देश में प्रतिभावान लोगों की कोई कमी नहीं है किंतु प्रस्तुति के लिए उनमें से कुछ लोगों को ही एक अच्छा मंच मिल पाता है और उनमें से चंद लोग ही सफल हो पाते हैं और आगे बढ़ पाते हैं ।कुछ ऐसी ही सोच को साकार करने का संकल्प लिया है शुभम पोद्दार जी ने वे चाहते थे कि जिस व्यक्ति या स्त्री में प्रतिभा है वे उसे दबा के न रखे और उसकी प्रस्तुति अवश्य दे सके और इसके लिए उन्होंने राष्ट्रीय लेखक मंच का गठन किया ।जो निरंतर साहित्यकार व साहित्यप्रेमीयों के लिए एक दिलचस्प मंच तैयार किया गया है।जहाँ भारत के भिन्न-भिन्न स्थानों से जानेमाने

कवियों/कवियत्रीयों के साथ ही नवोदित साहित्यकारों के द्वारा "कवि सम्मेलन, लाइव सेशन व अन्य कार्यक्रमों" ने इसे साहित्य प्रेमियों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाया रखा है। अनेको कवि कवयित्रियों ने इस मंच से अपनी प्रस्तुति दी और अपनी प्रतिभा को निखारा है और कयी राष्ट्रीय स्तर के भी साहित्यकार इस कड़ी से जुड़ चुके हैं।

 राष्ट्रीय लेखक मंच के संस्थापक श्री शुभम पोद्दार ने बताया कि जल्द ही वे "राष्ट्रीय लेखक मंच" के माध्यम से रचनाकारों की रचनाएं एकत्रित कर एक पुस्तक का रूप देने जा रहे है और पूरे भारत  के विभिन्न क्षेत्रों से लगभग सहस्त्र रचनाकारों की रचनाओं को "काव्यात्मक एहसास" सांझा संकलन पुस्तक के रूप में प्रकाशित किया जाएगा।

इस संस्था के जड़िये शुभम पोद्दार, अभिषेक,गूगल बॉय किशन,इरशाद शिबू,काजी आफिया मिस्बाह,

प्रिया सिंह,प्रियंका ठाकुर,आदित्य कर्ण,किधन कर्ण हिंदी और उर्दू साहित्य के क्षेत्र में काफी उत्कृष्ठ कार्य कर रहे हैं

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।