Breaking News

आपदा की घड़ी में जनता को वर्चुअल नही एक्चुअल सहयोग की जरूरत: पूर्व विधायक




दरियापुर /सारण से अमित कुमार की रिपोर्ट

परसा विधानसभा क्षेत्र से राजद के भावी उमीदवार छोटेलाल राय ने कहा है कि आज परसा विधानसभा क्षेत्र की जनता सहित पूरे राज्य की जनता कोरोना महामारी एवं बाढ़ की तबाही से त्राहिमाम कर रही है ऐसे में मुख्यमंत्री जी का वर्चुअल निश्चय संवाद कार्यक्रम अपने आप में ही हास्यास्पद है क्योंकि जनता को अभी वर्चुअल संवाद की नहीं बल्कि एक्चुअल सहयोग की जरूरत है।उन्होंने कहा कि राज्य की जनता के वर्तमान स्थिति के लिए पुर्ण रुप से जिम्मेवार सुबे के मुखिया को यह समझना चाहिए की बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में जहां अभी तक पानी नहीं उतरा है वहां पर लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं उन्हें किसी प्रकार की सरकारी सहायता नहीं पहुंच पा रही है वही जिन क्षेत्रों में पानी उतर चुका है वहां भी महीनों तक बाढ़ का पानी घरों में जमा रहने के कारण पैदा हुए बदबू और सड़ांध के साथ-साथ क्षतिग्रस्त हुए घरों में लोग घुसने से भी डर रहे हैं।लेकिन सरकार उनकी कोई सुध नहीं ले रही है।आगे उन्होंने कहा कि लोगों के खाते में छ: छ: हजार रुपए की जीआर राशि भेजने का ढिंढोरा तो पीटा जा रहा है लेकिन वास्तविकता यह है कि अभी क्षेत्र के आधे से अधिक लोग जीआर की राशि से वंचित है एवं विभिन्न कारणों से राशि खाते में नहीं पहुंच पाने के कारण कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं तथा लाभुकों की सूची प्रखंड कार्यालय से लेकर मुखिया लोगों के बीच ही घुम रही है।परसा विधानसभा क्षेत्र के हालात के विषय में उन्होंने कहा कि परसा व दरियापुर प्रखंड के दर्जनों घर बाढ़ की तबाही के कारण क्षतिग्रस्त हो चुके हैं वहीं सैकड़ों की संख्या में लोगों के घर बाढ़ की वजह से आंशिक रूप से भी क्षतिग्रस्त हुए हैं जो कभी भी ध्वस्त हो सकते हैं लेकिन सरकार द्वारा ऐसे लोगों का सर्वेक्षण कराकर कि अभी तक मुआवजा देने पर कोई पहल नहीं किया गया।वही हाल क्षेत्र की सड़कों का है लगभग हर गांव में सड़कें क्षतिग्रस्त हुई हैं कहीं-कहीं तो टूटी हुई सड़कों के कारण आवागमन भी बंद है वही किसानों का धान का फसल पूरी तरह से बाढ़ के पानी में बह गया उसका चिंता करने के बजाए माननीय मुख्यमंत्री जी वर्चुअल संवाद करने में व्यस्त हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।