Breaking News

सीएम की रैली को लेकर महिला जदयू ने की पूरी तैयारी

 

सीएम के कार्यों को युगों तक याद रखेगा बिहार: माधवी


छपरा: आगामी 7 सितंबर को  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की वर्चुअल रैली को लेकर महिला जदयू पूरी तरह से तैयारी में जुट गया है. जदयू सारण की महिला जिला अध्यक्ष माधवी सिंह ने मांझी विधानसभा समेत सारण क्षेत्र की महिलाओं को इस डिजिटल रैली में शामिल होने के लिए आग्रह किया है. इसको लेकर उन्होंने बताया कि मांझी विधानसभा क्षेत्र समेत पूरे सारण की महिला कार्यकर्ताओं ने तैयारी कर रखी है, उन्होंने कहा कि विधानसभा क्षेत्र में प्रत्येक पंचायत में सीएम की रैली दिखाई जाएगी. इसके लिए पूरी तरह से तैयारी की जा रही है. उन्होंने बताया कि इसके लिए प्रखंड अध्यक्ष, पंचायत अध्यक्ष, बूथ अध्यक्ष, सचिव और कार्यकर्ताओं से बैठक कर के अलग-अलग निर्देश दिया जाएगा ताकि प्रत्येक पंचायत और एक- एक गांव में सीएम नीतीश कुमार की रैली पहुंचाई जा सके. उन्होंने कहा कि इस रैली को लेकर महिलाओं में गजब का उत्साह है 


सीएम ने दिया बिहार को नया जीवन: माधवी


उन्होंने कहा कि मांझी में एनडीए मजबूत स्थिति में है. जदयू यहां मजबूत दावेदार के रूप में है. उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के प्रतीक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही है. सीएम को राज्य की जनता अपना अभिभावक मानती है. यह राज्य के लिए सुखद बात है कि बिहार को नीतीश कुमार जैसा मुख्यमंत्री मिला है. माधवी ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सदैव राज्य की जनता की भलाई की बात ही सोचते है. जिलाध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के लिए जो किया है वह युगो युगो तक याद रखा जाएगा, अंतर बस इतना है कि पहले बिजली 5 मिनट के लिए ही आती थी लेकिन अब सिर्फ 5 मिनट के लिए ही बिजली कटती है. उन्होंने जदयू के नारों को दोहराते हुए कहा कि नीतीश कुमार सबके हैं और सब को साथ लेकर चल रहे हैं आगामी 6 सितंबर को बिहार इतिहास रहेगा. जब सीएम की रैली में लाखों की संख्या में लोग देखेंगे. बिहार में जमीनी स्तर पर काम दिख रहा है जो पहले की सरकारों ने लूटने का काम किया सीएम ने बिहार को बचाने का काम किया.


बिहार के विकास के लिए योजनाओं की बौछाड़


उन्होंने बताया कि दो दिन पहले ही सीएम नीतीश कुमार ने "हर घर नल का जल" निश्चय अंतर्गत बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में पीएचडी विभाग द्वारा 11,501.86 करोड़ की लागत से 31,833 ग्रामीण वार्डों में 50,93,000 घरों में जलापूर्ति, पंचायती राज विभाग द्वारा 8,700 करोड़ की लागत से 55,003 ग्रामीण वार्डों में 88 लाख घरों में जलापूर्ति, नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा 228.87 करोड़ की लागत से 687 शहरी वार्डों में 2,01,791 घरों में जलापूर्ति एवं "घर तक पक्की-गली नालियां" निश्चय अंतर्गत बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायती राज विभाग द्वारा 12,700.00 करोड़ की लागत से 1,13,902 ग्रामीण वार्डों में बिहार के शहरी क्षेत्रों में नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा 585.78 करोड़ की लागत से 1898 शहरी वार्डों में योजनाओं का उद्घाटन एवं लोकार्पण किया गया है, यह विकास नहीं तो क्या है.

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।