Breaking News

अमानत ज्योति योजना के तहत प्रशिक्षित एएनएम को दिया गया प्रमाण पत्र व मेडल

 


• उत्कृष्ट कार्य करने वाली आशा फैसिलिटेटर व आशा कार्यकर्ताओं को भी किया गया सम्मानित

• ई औषधि पोर्टल के बारे में दिया गया प्रशिक्षण


छपरा। जिले के दरियापुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में अमानत ज्योति योजना के तहत प्रशिक्षित एएनएम को प्रमाण पत्र व मेडल देकर सम्मानित किया गया। इसके साथ ही उत्कृष्ट कार्य करने वाली आशा फैसिलिटेटर व आशा कार्यकर्ताओं को भी मेडल देकर सम्मानित किया गया तथा उनके कार्यों की सराहना करते हुए हौसला अफजाई की गई। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सत्येंद्र कुमार सिंह,  डॉ. संजीव कुमार, डॉ. नीरज तिवारी,  केयर इंडिया के डीटीओ-एफ  डॉ. रवीश्वर के द्वारा अमानत ज्योति योजना के तहत प्रशिक्षित एएमएन कुमारी अनिता, सरोज कुमारी1, सरोज कुमारी 2, सरुन कुमारी, ममता कुमारी, कुमकुम कुमारी एवं संगीता सिन्हा को प्रमाण पत्र व मेडल देकर सम्मानित किया गया। वही उत्कृष्ट कार्य करने वाले आशा फैसिलिटेटर रीता देवी, गीता कुमारी व आशा कार्यकर्ता गुड़िया देवी को मेडल देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक संजीव कुमार, केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक शशांक शेखर, आईसीटी समन्वयक कल्याण कुमार समेत अन्य उपस्थित थे।


क्या है अमानत ज्योति कार्यक्रम :

यह कार्यक्रम मातृत्व एवं नवजात की मृत्यु दर को कम करने के लिए चलाया जा रहा है। इसके तहत चिकित्सकों एवं नर्सों को सुरक्षित प्रसव कराने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है, ताकि प्रसव के दौरान होने वाली जटिलताओं में कमी लायी जा सके।



ई औषधि पोर्टल के बारे में दिया गया प्रशिक्षण:

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया कार्यक्रम के उपरांत ई-औषधि पोर्टल के बारे में सभी एएनएम को प्रशिक्षण दिया गया तथा औषधी पोर्टल के माध्यम से दवाओं व अन्य साधनों को इंडेंट करने के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया, आरोग्य दिवस पर दी जाने वाली सभी सेवाओं को अब ऑनलाइन ई-औषधि पोर्टल के माध्यम से डिमांड करना होगा। पहले दवाओं का डिमांड ऑफलाइन रजिस्टर के माध्यम से किया जाता था। लेकिन अब सभी सेवाओं को ऑनलाइन कर दिया गया है। साथ ही सीधे पोर्टल पर दवाओं व अन्य परिवार नियोजन के साधनों को इंडेंट करना है। जिला स्तर से उसकी आपूर्ति शीघ्र कर दी जाएगी। 


दवाओं व उपकरणों की जानकारी ऑनलाइन: 

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. सत्येंद्र कुमार सिंह ने बताया ई-औषधि एवं ई-उपकरण की शुरुआत की गयी है। जिला एवं प्रखंड स्तरीय अस्पतालों में दवाओं एवं उपकरणों की सूचनाओं को ऑनलाइन कर इसे अधिक पारदर्शी बनाने की पहल की गयी है। इससे दवाओं एवं जरूरी उपकरणों की माँग एवं वर्तमान स्टॉक का पता चल सकेगा, जिससे आपूर्ति सुनिश्चित करने में आसानी होगी।


अमानत ज्योति कार्यक्रम से यह होगा फायदा:

 

• महिलाओं में एनीमिया के खतरे के कारणों की पहचान एवं उपचार में गुणात्मक सुधार होगा

• साथ ही गर्भवती महिलाओं का नर्स एवं अस्पताल कर्मियों पर लोगों का विश्वास बढ़ेगा

• अमानत ज्योति कार्यक्रम से अस्पताल की चिकित्सा गुणवत्ता में सुधार होगा

• इससे अस्पताल के चिकित्सकीय व्यवस्था का सर्वांगिण विकास होगा

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।