Breaking News

पश्चिम चम्पारण-कोरोना और मौसम के प्रहार से व्यावसायिक परेशान।


 संवाददाता। 
नरकटियागंज से मनोजकुमार मिश्र ।
पश्चिमी चम्पारण के नरकटियागंज में कोरोना और मौसम का असर रक्षाबंधन पर साफ देखा जा रहा है। इस त्योहार को लेकर इक्के-दुक्के दुकान खुली तो जरूर हैं, लेकिन कोई खरीदार नहीं दिख रहा है। दुकानदारों का कहना है कि अन्य वर्षों की तुलना में सस्ती राखी की मांग अधिक की जा रही है। जिले में कोरोना और मौसम की मार ने लोगों की लाइफ स्टाइल बदल कर रख दी है। इस महामारी का असर अब त्योहारों पर भी पड़ रहा है।इस बार भाई बहनों के अटूट प्रेम का बंधन कहा जाने वाला पर्व रक्षा बंधन 3 अगस्त को कोविड-19 वायरस के खौफ के बीच मनाया जाएगा. कोरोना और बाढ़ के कारण पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष बाजारों में कोई खास रौनक नहीं दिख रही है।राखी और मिठाईवाले दुकानदारों की समान नही बिकने से राखी फीका लग रहा है जिसके दुकानदारो की स्थिति खराब हो गई है। दुकानदारों की माने तो राखी,गिफ्ट और मिठाइयों की बिक्री भी पहले की अपेक्षा कम है.देखा जाए तो राखी में अब एक दिन शेष रह गए हैं,जो लोग राखी लेने निकल भी रही हैं वे भी कोरोना के भय और प्रशासन के नियमों का पूर्णतः पालन करते हुए नजर आ रहे हैं त्योहार के मौके पर बाजार सुना पड़ा है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।