Breaking News

छात्र समस्याओं के खिलाफ 30 अगस्त से करेंगे चरणबद्ध आंदोलन: एआईएसएफ

 


सारण, ऑल इंडिया स्टूडेंटस फेडरेशन (एआईएसएफ) सारण जिला परिषद् की बैठक मंजर रिजवी भवन सलेमपुर छपरा में हुई।

बैठक की अध्यक्षता साथी विनय कुमार गिरि ने किया।

बैठक में मुख्य रूप से सदस्यता, सभी यूनिट, अंचलों व जिला सम्मेलन, पूर्व के संघर्षों की समीक्षा व आगामी आंदोलनात्मक कार्यक्रम, कोष संग्रह, आदि पर चर्चा हुई।

बैठक में केंद्र एवं राज्य सरकार की कोरोना महामारी में नाकामी, महामारी में छात्रों की जान लेने की तैयारी के तहत परीक्षा लेने व इंटरमीडिएट नामांकन में छात्रों से अवैध वसूली के खिलाफ आंदोलन का ऐलान किया।

बैठक को संबोधित करते हुए एआईएसएफ के राज्य उपाध्यक्ष राहुल कुमार यादव ने कहा की जेईई मेंस, नीट एवं नेट परीक्षा लेने का फरमान सरकार वापस ले इस फरमान  के बाद मात्र कुछ आर्थिक तौर पर संपन्न विद्यार्थी ही परीक्षा दे पाएंगे जबकि एआईएसएफ ने कोरोना काल में परीक्षा नही लेने एवं यूनिवर्सिटी परीक्षाओं में भी विद्यार्थियों को प्रमोट करने को लेकर आंदोलन किया था।

सरकार ने मात्र मैट्रिक व इंटर के विद्यार्थियों को प्रमोट करने का निर्णय लिया जबकि अन्य परीक्षाए लेकर सरकार छात्रों की जान लेने पर आमादा है अगर किसी भी विद्यार्थी या उसके अभिभावक को कोरोना संक्रमण होता है या उसकी वजह से जान जाती है तो पुरी जिम्मेदारी सरकार पर होगी ।

राज्य-पार्षद अमित नयन ने कहा कि राज्य सरकार के अधिकारियों एवं स्थानीय प्रशासन को बार-बार लिखने करने के बाद भी इंटरमीडिएट नामांकन में छात्रों से अवैध वसूली कर उनका आर्थिक एवं मानसिक शोषण लगातार जारी है। जो काफी निराशाजनक है।

छात्र नेताओं ने कहा कि इंटरमीडिएट नामांकन में छात्रों से अवैध वसूली, 6 माह  की स्कूलों की फीस, रूम रेंट ,बिजली बिल, के माफी को लेकर भी चल रहे आंदोलन पर स्थानीय प्रशासन व सरकार द्वारा नजर अंदाज करने पर गुस्सा जाहिर किया है।

एआईएसएफ छात्र नेताओं ने सरकार के प्रशासनिक अधिकारियों को कुंभकरणी नींद से जगाने के लिए संगठन के राज्यव्यापी आह्वान पर 30 अगस्त को सारण सहित पूरे राज्य में एआईएसएफ ने भूख हड़ताल, आगामी 3 सितंबर को सभी इकाइयों द्वारा प्रर्दशन एवं 8 जुलाई को सभी जिलों में जिलाधिकारी के सामने प्रदर्शन का ऐलान किया।

वहीं 1 सितंबर से पूरे जिले में सघन सदस्यता अभियान और सभी यूनिट, अंचलों का सम्मेलन का निर्णय लिया गया।

बैठक में मुख्य रूप से

राज्य-पार्षद अमित नयन, अविनाश उपाध्याय, मुकेश कुमार यादव, रंजीत कुमार, रौशन कुमार, रवि गुप्ता आदि थे।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।