Breaking News

रक्सौल- नागपंचमी में लगने वाला प्रसिद्ध मेला में इस बार दूतावास रहा सुनसान



 संवाददाता रक्सौल कुशाल कुशवाहा 

रक्सौल/ प्रत्येक वर्ष की भाँति इस वर्ष भी सावन की इस पवित्र माह में अपने समयानुसार नाग पंचमी का पर्व आया। जिसके बाद लोगों ने अपने-अपने घरों में पूजा-अर्चना कर गाय के गोबर से नागों का प्रतीकात्मक चिन्ह बनाया और फिर एक सुनसान जगह पर नाग देवता के लिए मिट्टी की कटोरी में दूध और लावा रख नाग देवता को ग्रहण करने की प्रार्थना कर वापस आये। परन्तु इन सबके बीच प्रत्येक साल नागपंचमी पर भारतीय दूतावास के प्रांगण स्थित राजदंडी में  लगने वाले मेला कोविद-19 प्रकोप के कारण इस साल नहीं लगा। जिसके चलते लोगों में थोड़ी उदासी देखी गयी। इस मेले में कई हजार लोगों की उपस्थिति होती है। विभिन्न मुहल्लों से युवा लाठी, तलवार व भाला सहित कई शस्त्रों से अपना करतब दिखाते हुए थाना पहुँचते है और फिर दूतावास में पहुँच करतब के साथ इसका समापन्न होता है। सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेवारी दंडाधिकारियों सहित स्थानीय पुलिस व एसएसबी के कंधों पर होती है और भीड़ ज्यादा होने के कारण इस मेले में एनसीसी की भी मदद ली जाती है। सुबह से लेकर देर रात तक चहल-पहल होती हैं। पर इस बार यह भारतीय दूतावास मानों लोगों के इंतजार में उदास बैठा हो। आलम यह था कि सब कुछ सुनसान दिखा।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।