Breaking News

पति की लंबी आयु के लिए सुहागिनों ने रखा व्रत, परिक्रमा कर वट वृक्ष पर लपेटा धागा





बिहार खबर संवाददाता
मैनाटांड़:- रवि शर्मा 



प. चंपारण/  कोरोना महामारी में भी सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुए अपने पति की लंबी आयु की कामना को लेकर सुहागिनों से वटसावित्री व्रत रख पूजा की। सुहागिन महिलाओं ने वट के वृक्ष की परिक्रमा कर धागा लपेटा व उसकी छांव में बैठकर सावित्री-सत्यवान की कथा सुनी।वट सावित्री व्रत सुहागन स्त्रियों को लिए सौभाग्य देने वाला व्रत माना जाता है। यही वजह है कि अपने सौभाग्य की रक्षा के लिए महिलाओं को इस व्रत का वर्षों से इंतजार रहता है। महिलाओं ने व्रत की तैयारी पहले ही कर ली थी। पूजन सामग्री की खरीदी से लेकर स्वयं के श्रृंगार का सामान महिलाओं ने खरीद रखा था। सोमवार की सुबह महिलाएं पवित्र स्नानकर नए कपड़े धारण कर पूजा के लिए अपने घरों से निकली। प्रखंड क्षेत्र के  मेला चौक, इनारवा शिव मंदिर के पास, भंगहा ब्रह्म स्थान  सहित कई स्थानों पर कोरोना महामारी में भी सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुए महिलाओं को बट सावित्री की पूजा करते हुए देखा गया। महिलाओं ने वट के वृक्ष की पूजा कर उसके तने पर मौली धागा लपेटते हुए उसकी परिक्रमा की। सत्यवान सावित्री की कथा सुनी गई और आरती हुई। पूजा कर घर लौटने के बाद सुहागन महिलाओं ने अपने पति के चरण स्पर्श कर उनका आशीष मांगा। जानकारों का मानना है कि वट वृक्ष काफी उपयोगी पेड़ है। अन्य वृक्ष की अपेक्षा वट वृक्ष की आयु काफी लंबी होती है। इसकी जड़ काफी मजबूत रहती है। इसका धार्मिक के साथ आयुर्वेदिक महत्व भी है। इसके पत्ते छाल अाैर फल से कई दवाएं बनती है, जो कई बीमारियों के इलाज के काम आती है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।