Breaking News

वैशाली :जनसंघ के संस्थापक एवं एकात्म मानववाद के प्रणेता डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के शहादत दिवस को आज पुरे हिन्दुस्तान में बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया।



 वैशाली जिला व्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा
वैशाली के लालगंज स्थित प्रेमगंज शक्ति केंद्र में यह कार्यक्रम महिला मोर्चा उपाध्यक्षा सुश्री सुमन कुमारी के नेतृत्व में डा. मुखर्जी के तैल्य-चित्र पर पुष्प-माला अर्पित कर मनाया गया। कार्यक्रम का समापन चीन सीमा पर शहीद हुए हमारे वीर सैनिकों को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि देते हुए किया गया।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में भाजपा IT Cell के जिला संयोजक शुभम राज की गरिमामयी उपस्थिती रही। उन्होंने सभी पदाधिकारियों को यह कार्यक्रम पुरे लालगंज में इतने उल्लास के साथ मनाने के लिए धन्यवाद दिया और आशा व्यक्त किया कि हम सभी अपने देश और संविधान की रक्षा हेतु हमेशा एकजुट होकर काम करेंगे। उन्होंने चीन की सीमा पर शहीद वीर सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि हम सभी को आप पर नाज है।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए जिला उपाध्यक्षा सुश्री सुमन कुमारी ने डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के शहादत दिवस पर प्रकाश डाला। सुश्री सुमन ने बताया कि डा. मुखर्जी पुरे देश में एक हीं तरह के संविधान के पक्षधर थे। उनका मानना था कि पुरे हिन्दुस्तान में एक हीं तरह का संविधान होना चाहिए। जबकि जम्मू-कश्मीर में जाने के लिए उस समय परमिट (वीजा) की आवश्यकता होती थी। बिना परमिट के हिन्दुस्तान का कोई भी व्यक्ति अपने हीं देश में स्थित जम्मू-कश्मीर में नहीं जा सकता था। ये सारी बातें डा. मुखर्जी को कतई मंजूर नहीं थी। वह हमेशा इसका विरोध करते थे। फलस्वरूप, हिन्दुस्तान से इस असंवैधानिक कानून को हटाने हेतु और पुरे देश के लोगों को इस कलंकित कानून से निजात दिलाने हेतु उन्होंने बिना परमिट लिए कश्मीर के लिए प्रस्थान किया। जैसे हीं डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी कश्मीर की सीमा में गए, वहां की पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया। जेल में हीं डा. मुखर्जी की नृशंस हत्या कर दी गई और इस तरह से हिन्दुस्तान का यह सच्चा सपूत अपने देश के हित के लिए बलिदान दे दिया।
इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में लालगंज नगर मंडल अध्यक्ष संजीव कुमार ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बताया कि डा. मुखर्जी के बलिदान का हीं यह नतीजा है कि आज पुरे हिन्दुस्तान में हर जगह एक हीं संविधान है, अन्यथा आज हम अपने हीं देश में प्रतिबंधित होते। कार्यक्रम में इन पदाधिकारियों के अलावा निवर्तमान मंडल अध्यक्ष शिवनारायण महतो, विधानसभा IT Cell सदस्य नीरज कुमार,  महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष शकुन्तला देवी, मणिमाला सिंह  सहित दर्जनों कार्यकर्तागण सम्मिलित हुए।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।