Breaking News

बिहार भोजपुर: संपत्ति के बंटवारे को लेकर नशे में धुत बेटे ने पिता को डंडे और रॉड से पीट-पीटकर मार डाला


भोजपुर: बिहार के भोजपुर जिले के नासरीगंज थाना क्षेत्र के पड़ुरी गांव में घर व संपत्ति के बंटवारे को लेकर एक युवक ने अपने  पिता की हत्या कर दी। यह घटना मंगलवार  की रात पड़ुरी गांव में घटी। जब नशे में धुत पुत्र ने अपने पिता पर डंडे और लोहे के रड से प्रहार करके गंभीर रूप से घायल कर दिया। 
खून से लथपथ घायल व्यक्ति को पीएचसी में भर्ती किया गया। लेकिन, उसकी नाजुक हालत को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद सदर अस्पताल सासाराम रेफर कर दिया। परिजनों और ग्रामीणों ने आनन फानन में टेंपो पर लादकर सासाराम ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में उस घायल व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। उसके बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। पुलिस ने हत्यारे पुत्र को भी गिरफ्तार कर लिया है।
बताया जाता है 62 वर्षीय मृतक सुरेंद्र चौधरी बाहर रहकर मजदूरी करता था। वह  तीन सप्ताह पूर्व अलीगढ़ से घर वापस लौटा था। उसे प्रखंड के अतिमी पंचायत अंतर्गत एक क्वारंटाइन में रखा गया था। जहां चौदह दिन रहने के बाद उसे एक सप्ताह पूर्व छुट्टी मिली थी। उसके बाद जब वह चार कमरे के घर वाले मकान में  बड़ा बेटा मनोज चौधरी और छोटा बेटा सरोज चौधरी के साथ रहने लगे। इसी क्रम में बड़े पुत्र मनोज ने घर के बंटवारे को लेकर विवाद शुरू कर दिया। मृतक की साठ वर्षीया पत्नी तेतरी देवी और छोटा बेटा सरोज भी घायल हैं। ग्रामीणों ने बताया कि घटना के समय हत्या का आरोपित पुत्र शराब के नशे में था।
मृतक की पत्नी पर टूटा दुखों का पहाड़
पड़ुरी गांव में पुत्र द्वारा वृद्ध प्रवासी पिता की हत्या से मृतक की साठ वर्षीय पत्नी तेतरी देवी पर जहां दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।
वहीं, उसके छोटे पुत्र सरोज व पुत्री शोभा देवी  गहरे सदमे में हैं। मनोज जहां गांव में  रहता है, तो शोभा देवी घटना की सूचना पाकर अपनी ससुराल औरंगाबाद के अंछा गांव से बदहवास मायके आ गई। मृतक की विधवा ने बताया कि पिता की निर्मम हत्या करने वाला उसका बड़ा बेटा मनोज अभी भी घर के सभी सदस्यों को जान से मारने की धमकी दे रहा है।
बेटे के हमले से अपने शरीर के जख्मों और चोट को दिखाते हुए  तेतरी देवी पति को याद करके विलाप करने लग रही है। वह मनोज की पत्नी पर भी मारपीट  करने का आरोप लगा रही है।  विलाप करते हुए एक ही बात  दोहराती है कि एक माह भी नहीं हुआ था उसके पति को बाहर से आए हुए और उसके बेटे ने ही हत्या कर दी। 
वहीं, मृतक की छोटी बहू आरती देवी ने बताया कि पैतृक घर का बंटवारा दो हिस्सों में हो चुका है। लेकिन, उसका जेठ निजी घर में भी हक मांगता है।
बताते चलें कि बड़े बेटे ने पहले गांव में नासरीगंज-डेहरी मुख्य मार्ग के पूरब की ओर स्थित पैतृक घर में ही अपनी मां से झगड़ा शुरू किया। तब उसकी  मां भागकर थोड़ी दूरी पर छोटे बेटे के निजी घर में आ गई। लेकिन, उसका मनोज  पीछा करता हुआ वहां तक चला गया। जहां अपने पिता को घर से बाहर लाकर लाठी और लोहे के रड से प्रहार करके मार डाला। 

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।