Breaking News

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी का फरमान जारी, बिहार विधानसभा चुनाव इस बार आधुनिक ईवीएम से होगा


बिहार में विधानसभा का आम चुनाव इस बार नए ईवीएम से कराया जाएगा। इस नए ईवीएम का नाम एम-3 (मॉडल 3) है। इसके लिए राज्य के मुख्य  निर्वाचन पदाधिकारी के स्तर से कार्रवाई शुरू कर दी गयी है।
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार एचआर श्रीनिवास ने सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी को इस नए ईवीएम से ही चुनाव कार्य किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने इसके पूर्व सभी जिलाधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान भी पुराने ईवीएम की जगह नए ईवीएम की जानकारी दी थी और इसे दूसरे राज्यों से मांगने का निर्देश दिया था। 
तीन राज्यों से मंगाए जाएंगे नए ईवीएम 
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार एच आर श्रीनिवास के अनुसार बिहार में तीन राज्यों - उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश और आंध्रप्रदेश से नए ईवीएम मंगाए जाएंगे। इन राज्यों में आम चुनाव नए इवीएम द्वारा ही कराये गए थे। उन्होंने बताया कि नए एम-3 ईवीएम पूर्व के मॉडल 2 इवीएम से थोड़ा एडवांस है। यह तकनीक के बेहतर इस्तेमाल की दृष्टि से प्रयोग में लाया जा रहा है। 
इवीएम मॉडल 2 से अबतक होते आये हैं चुनाव
बिहार में पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनाव ईवीएम मॉडल 2 से कराए गए थे। इसका सॉफ्टवेयर पुराना हो चुका है। इसमें तकनीकी गड़बड़ी जल्द ठीक होनी मुश्किल होती थी। तकनीकी खराबी को जांच के बाद ही दुरुस्त किया जा सकता था। इसके अतिरिक्त मॉडल 2 इवीएम में बैलेट यूनिट भी कम संख्या में जोड़े जा सकते थे। 
एम- 3 में टेम्पर डिटेक्शन फीचर सहित कई खासियत
बीईएल द्वारा बनाई गई नई किस्म की एम -3 ईवीएम में टेंपर डिटेक्टन का फीचर है। यदि इससे कोई छेड़छाड़ करता है तो यह अपने आप काम करना बंद कर देती है। इसके अलावा यह मशीन कुछ खराबी आए तो स्वयं दुरस्त कर लेती है। यानी यदि साफ्टवेयर में कोई फाल्ट है तो यह उसे पकड़ लेगी। यह इसके डिस्प्ले स्क्रीन पर प्रदर्शित होने लगेगा। इस मशीन के कंट्रोल यूनिट और बैलट यूनिट आपस में संवाद करने में सक्षम है। यदि बाहर से कोई कंट्रोल यूनिट या बैलट यूनिट लगाई जाएगी तो इसके डिजिटल सिग्नेचर मैच नहीं होंगे और सिस्टम काम करना बंद कर देगा। एम-3 ईवीएम में 24 बैलट यूनिटें (एक बैलट यूनिट में 16 उम्मीदवार) जोड़ी जा सकती हैं। इससे पूर्व टाइप 2 ईवीएम में सिर्फ 64 उम्मीदवारों को ही लेने की क्षमता थी। 
उम्मीदवारों के बढ़ने पर चुनाव में नही होगी परेशानी
नए इवीएम से आम चुनाव में उम्मीदवारों की संख्या बढ़ने पर अब कोई परेशानी नही होगी। 200 से अधिक उम्मीदवार होने पर भी बैलेट यूनिट के माध्यम से मतदान के लिए इवीएम में व्यवस्था की जा सकेगी। पूर्व के इवीएम में 64 से ज्यादा उम्मीदवार होने की स्थिति में मतदान के लिए बैलट पेपर इस्तेमाल का प्रावधान था।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।