HAPPY NEW YEAR 2021

HAPPY NEW YEAR 2021

Breaking News

नेपाल में बसे चीनी भारत के सीमावर्ती इलाके की गुप्त सूचनाएं भेज रहे सीमा पार



नेपाल के जरिए भारतीय इलाकों पर चीन अपनी नजरें गड़ाए हुए हैं। नेपाल में बसे चीनी नागरिक भारत-नेपाल सीमावर्ती इलाके की सूचनाएं अपने आकाओं को भेज रहे हैं। चीन के गुप्तचर और पीएलए के वरीय अधिकारी नेपाल में रह रहे अपने देश के लोगों के संपर्क में हैं।
दावा किया गया है कि 90 दिनों के अंदर चीन के सहयोग से ही नेपाल ने मोरंग, सप्तरी, सुनसरी और अन्य जिलों में 85 नए चेकपोस्ट बनाए। मोरंग और सुनसरी में दो बड़े चेकपोस्ट का निर्माण अभी चल ही रहा है। इन स्थितियों को देखते हुए एसएसबी ने अपनी चौकसी सीमा क्षेत्र में बढ़ा दी है। सुपौल जिला के वीरपुर 45वीं बटालियन, अररिया जिला के बथनाहा 56 वीं बटालियन और अररिया की 52 वीं बटालियन के कुल 52 चेकपोस्ट पर 12 सौ से अधिक एसएसबी के जवानों की तैनाती है। गृह मंत्रालय के आदेश पर एसएसबी के जवानों को कई गुप्त दिशा निर्देश भी वरीय अधिकारियों ने दिए हैं। इसके अलावा नेपाल सीमा पर तैनात गुप्तचर को भी विशेष एहतियात और सतर्कता बरतने को कहा गया है।
चीन के नागरिक देखे जाते हैं सीमा के पार
नेपाल से लगी भारत सीमा के पार अक्सर चीनी नागरिक चहलकदमी करते देखे जाते हैं। चीनी नागरिक बेखौफ सीमाई इलाकों में भी घूमते हैं। यहीं से गुप्त जानकारी जुटाकर चीन की सेना समेत अन्य अधिकारियों को भेजते हैं। हाल के दिनों में नेपाल सीमा पर चीनी नागरिकों की आवाजाही भारत की सुरक्षा एजेंसियों को खटकी है। यही वजह है कि हाल के दिनों में नेपाल से भारत के संबंध में गोलीबारी की घटना के बाद खटास आई है।
लॉकडाउन के बहाने भारत से निर्भरता हटाने की मंशा
एसएसबी के वरीय अधिकारियों को गुप्त सूचना मिली है कि चीन ने नेपाल को बेवजह लॉकडाउन का बहाना बनाकर सीमा पर आवाजाही से रोक रखा है। सच्चाई यह है कि चीन इसी बहाने नेपाल की भारत पर निर्भरता को खत्म करना चाहता है। नेपाल के भारत से होने वाले कारोबारी रिश्ते को भी कमजोर करने की पुरजोर कोशिश है। यही वजह है कि नेपाल में भारत से जाने वाले कई सामान की किल्लत है। कई सामान नेपाल में बेहद महंगे हो गए हैं।
हाल के महीनों में अचानक नेपाल के द्वारा चेकपोस्ट की संख्या बढ़ाई जा रही है। नेपाल में भारत के सीमाई इलाकों पर पचासी नए चेकपोस्ट बनाए गए हैं। दो नए चेकपोस्ट का निर्माण बड़े स्तर पर कराया जा रहा है। नेपाल में चीनी नागरिक के  रहने की वजह से उनके द्वारा भारत के सीमाई इलाकों की सूचनाएं चीन को भेजी जा रही है। अररिया और सुपौल जिला के 52 चेकपोस्ट पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। चप्पे-चप्पे पर दिन-रात नजर रखी जा रही है। - संजय कुमार सारंगी, डीआईजी, एसएसबी, पूर्णिया

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।