Breaking News

सासाराम में एनएच-2 पर लगा महाजाम, भूखे-प्यासे गर्मी में तड़पते रहे मरीज, महिलाएं और बच्चे



सासाराम:- सुबह के दस बजे, शहर के पश्चिमी छोर पर स्थित टॉल प्लाजा, आठ लेन वाले टॉल गेट पर दोनों ओर वाहनों की अंतहीन कतारें। वाहनों की संख्या गिनना मुश्किल ही नहीं असंभव। इसमें कई ऐसे वाहन थे जिसमें छोटे बच्चे, महिलाएं, मरीज व बारात के लिए निकले लोग रात से ही भूखे-प्यासे गर्मी में तड़प रहे हैं। मंगलवार रात से राष्ट्रीय राजमार्ग दो पर महाजाम लग गया।

टोल प्लाजा से लेकर करीब 20 किलोमीटर की दूरी तक हुई जाम में सैकड़ों वाहन फंसे रहे। इससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। मंगलवार से शुरू हुई जाम की स्थिति बुधवार तक भयावह हो गई है। लेकिन प्रशासन का इस पर कोई ध्यान नहीं है।  जिससे परेशानी हुई।

कई किलोमीटर में सड़कों पर खड़े हैं हजारों वाहन 
खुर्माबाद से पखनारी तक एनएच की दोनों लेन वाहनों से पट गई हैं। स्थिति यह है कि लोगों को बाइक पास करने के लिए जगह नहीं बची थी। मरीजों से लदे कई एंबुलेंस इसमें फंसे रहे। बारातयों की कई गाड़ियां जाम में फंसी थी। दूल्हा तक को जाम ने काफी रूला दिया, लेकिन इन सबके बीच पुलिस नदारद दिखी। जब एनएच पर बालू लदी गाड़ियां गुजरती हैं तो पुलिस कई जगहों पर खड़ी हो पैसे वसूल करती दिखती है। लेकिन इतनी भयावह जाम के बाद भी  सासाराम, शिवसागर व चेनारी थाना की पुलिस उदासीन दिखी। पुलिस की गाड़ियां सड़क पर होती तो लोगों को कुछ हद तक जाम से निजात मिलती। 

चेनारी पुलिस को दूर से आना होता है, लेकिन शिवसागर थाना रोड के किनारे है। स्थिति गंभीर होने पर सासाराम या दरिगांव थाने की पुलिस भी संभाल सकती है। लेकिन सभी मौन साधे रहे। वहीं जाम में फंसे लोग पेयजल व छांव के लिए धूप में बिलबिलाते रहे। सबसे ज्यादा परेशानी बच्चों को हुई।

गर्मी में हलकान हो गए कई राज्यों के यात्री 
बिहार के अलावे झारखंड, पश्चिम बंगाल उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश सहित कई अन्य राज्यों के पर्यटक व ट्रक सहित बड़े वाहन फंसे हुए थे कई यात्रियों को भीषण गर्मी में काफी परेशानी हुई। ट्रक चालक शिव कुमार ने बताया कि रात से महरनियां के पास गाड़ी खडी़ है। लेकिन जाम नहीं हटा। मोहद्दीगंज के दुर्गेश कुमार, डिलियां के मनोज कुमार बारात में शामिल होने खुर्माबाद जा रहे थे। किसी तरह खुर्माबाद पहुंचे। वहीं कोलकाता से आ रहे बनर्जी दंपत्ति गर्मी से परेशान हो सड़क किनारे चादर डाल सो गए। जाम को देखकर अधिकांश लोग वापस लौट रहे थे। जाम का आलम रहा कि बुधवार को दोपहर तक ठसाठस जाम टॉल गेट से दोनों ओर 20 किलोमीटर तक बनी रही।  

टॉल गेट पर जाम को खाली कराने के लिए पुलिस को निर्देश दिया गया था। जल्दबाजी के चक्कर में वाहन कर्मी गलत साइड से वाहन को घुसाते हैं। इस कारण जाम हटाना दुश्वार हो जाता है। पुलिस बल को भेजा गया है।
-राजकुमार गुप्ता, एसडीओ 

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।