Breaking News

पटना: राज्य के 9 जिलों के लिए आवंटित हुई बसों की सुविधा



नवसृजित एएनएम स्कूलों को मिलेगी बस की सुविधा  
स्वास्थ्य मंत्री ने झंडी दिखाकर किया रवाना

कम्युनिटी विजिट तथा अस्पताल से क्षात्रावास में आवागमन के लिए होगा बसों का इस्तेमाल  

पटना/ 15 जून:राज्य के 9 जिलों में 9 नए एएनएम स्कूल निर्मित किये गए हैं. अब इन सभी एएनएम स्कूलों में बस की सुविधा उपलब्ध होगी. सोमवार को राज्य स्वास्थ्य समिति के प्रांगन से स्वास्थ्य मंत्री, बिहार सरकार मंगल पाण्डेय ने राज्य के चयनित 9 जिलों के लिए 9 बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय ने कहा राज्य में लगातार स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए राज्य सरकार निरंतर प्रयास कर रही है. राज्य के 9 जिलों में नव-निर्मित एएनएम स्कूलों के लिए 9 बसों की खरीदारी की गयी है. इससे प्रशिक्षण प्राप्त कर रही एएनएम स्कूल की लड़कियों को कम्युनिटी विजिट तथा अस्पताल से क्षात्रावास में आवागमन में सुविधा होगी.


9 जिलों के एएनएम स्कूलों को उपलब्ध होगी बस की सुविधा:
राज्य में कुल 32 सरकारी ए.एन.एम., 11 जी.एन.एम. स्कूल तथा 1 स्टेट नोडल सेंटर संचालित है. प्री- सर्विस नर्सिंग प्रशिक्षण के सुदृढ़ीकरण के क्रम में केंद्र प्रायोजित योजना के तहत राज्य के 9 जिलों में बस की सुविधा उपलब्ध होगी. जिसमें नवादा(रजौली), सिवान(मैरवा), औरंगाबाद (दाऊदनगर), कैमूर (भभुआ), खगड़िया, लखीसराय, सुपौल (त्रिवेणीगंज), जमुई(लक्ष्मीपुर) एवं शिवहर जिले शामिल हैं. इन जिलों में केंद्र प्रायोजित योजना के अंतर्गत सरकारी एएनएम स्कूल नवनिर्मित हैं.


नवनिर्मित एएनएम स्कूलों को किया जायेगा सुविधाओं से लैस:
एएनएम स्कूलों में बसों की उपलब्धता के साथ साथ स्कूल में अन्य सुविधाओं को भी उपलब्ध कराया जायेगा. सभी एएनएम एवं जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर में कंप्यूटर लैब, स्किल लैब और पुस्तकालय की सुविधा प्रदान की जाएगी. पूर्व से सभी संचालित एएनएम एवं जीएनएम ट्रेनिंग सेंटर में यह सुविधा उपलब्ध है.

नर्सिंग ट्यूटरों  के कौशल विकास पर दिया जा रहा है ध्यान:
एएनएम स्कूलों में प्रशिक्षुओं के नामांकन की संख्या 2120 तथा जीएनएम स्कूलों में प्रशिक्षुओं के नामांकन की संख्या 676 है. स्टेट नोडल सेंटर में संचालित 6 हफ़्तों के प्रशिक्षण के लर्निंग रिसोर्स पैकेज द्वारा नर्सिंग स्कूलों में कार्यरत नर्सिंग ट्यूटरों का कौशल विकास किया जा रहा है. नर्सिंग ट्यूटर के चार बैच को दक्ष टीओटी में सफलतापूर्वक प्रशिक्षित किया गया है. नर्सिंग स्कूलों की प्रशिक्षण व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण हेतु पाठ्यक्रम के अनुरूप नियमित रूप से कम्युनिटी विजिट के लिए राशी प्रदान की जा रही है.

इस मौके पर कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति मनोज कुमार, राज्य टीकाकरण पदाधिकारी डॉ. एन.के. सिन्हा, राज्य परिवार नियोजन पदाधिकारी डॉ. मोहम्मद सज्जाद के अलावा विभिन्न सहयोगी संस्थानों के अधिकारीगण मौजूद थे.

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।