Breaking News

वैशाली: मृगशिरा नक्षत्र की हुई झमाझम बारिश से किसान हुए बाग-बाग


 वैशाली जिला व्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा

बारिश होने से कहीं शुरू हुई धान की रोपनी तो कहीं बिचड़े गिराने में जुटे किसान 

मृगशिरा नक्षत्र की बारिश  महुआ और आसपास में झमाझम हुई। इस बारिश से किसानों के चेहरे खिल गए और कहीं धान की रोपनी शुरू की गई तो कहीं किसान बिचड़े गिराने में लगे रहे। किसानों ने बताया कि मृगशिरा नक्षत्र की बारिश में धान की रोपनी कर देने से फसल अगात होती है। इस कारण जिन किसानों के बिचरे तैयार थे वह रोपनी में जुट गए हैं। वहीं जिन किसानों ने बिचड़े नहीं गिराए थे वे इसी बारिश में उसे गिरा भी रहे हैं। महुआ के किसानों ने बताया कि इस बार खरीफ फसल के लिए मौसम अनुकूल दिख रहा है। समय समय पर बारिश होना उन्हें अच्छी फसल उगाने की ओर इशारा कर रही है। किसानों ने बताया कि अगर इस बार प्रकृति इसी तरह साथ दिया तो खरीफ फसल अच्छी होने से इनकार नहीं किया जा सकता। कन्हौली के किसान सूर्यकांत सिंह, रघुवंश प्रसाद, सुरेश कुमार, सुनील सिंह, कन्हौली धनराज के वीरेंद्र सिंह, सुरेंद्र सिंह, राकेश कुमार, कुतुबपुर के नवल किशोर सिंह, सच्चिदानंद, पारसनाथ सिंह, मानपुरा के प्रमोद राय, सुरेंद्र राय, हुसैनीपुर के ललन प्रसाद सिंह, कामेश्वर प्रसाद, देवेंद्र सिंह आदि ने बताया कि वह इसी बारिश में धान के बिचड़े गिराए हैं। उन्होंने बताया कि बिछड़े तैयार होने पर वह धान की रोपनी करेंगे। उन्होंने यह भी बताया कि इस बार! मानसून समय से आ गया है और समय-समय पर बारिश हो रही है। यह बारिश किसानों को खरीफ की अच्छी फसल उगाने की ओर इशारा कर रही है। किसानों ने बताया कि वह मकई, सामा, कौनी की भी बुआई करेंगे। साथ ही किसान मड़ुआ की भी रोशनी करने में जुट गए हैं। इधर हुई झमाझम बारिश से निचले इलाकों में लोगों के घरों तक जल जमाव हो गया है। साथ ही ग्रामीण सड़कों पर कादो कीचड़ होने से लोग परेशान हैं। महुआ बाजार में भी जलजमाव होने से दुकानदारों को परेशानी हो रही है। हालांकि नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी रविशंकर प्रसाद ने बताया कि बरसात के पूर्व ही यहां नाला की उड़ाई कर ली गई थी।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।