Breaking News

BREAKING NEWS पटना: कंक्रीट से बने स्लैब के नीचे दबने से 3 बच्चों की मौत, मुआवजे का ऐलान




पटना: बेली रोड पर बन रहे पुल की रेलिंग के लिए रखे स्लैब के नीचे दबकर तीन मासूमों की मौत हो गई। यह दर्दनाक हादसा बुधवार की रात ललित भवन के सामने हुआ। इसके बाद उग्र लोगों ने उधर से गुजर रहे वाहनों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। जेसीबी सहित करीब आधा दर्जन गाड़ियों के शीशे फोड़ दिए। पुलिस पर भी पथराव किया। इसमें कई राहगीर भी चोटिल हुए हैं।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक स्लैब एक के ऊपर एक कर रखे गए थे। उसी पर किशु कुमार (7 वर्ष), कर्ण कुमार (8 वर्ष) और साहिल (12 वर्ष) खेल रहे थे। खेलने के दौरान अचानक स्लैब के नीचे की मिट्टी खिसक गई और स्लैब गिर गए। नीचे बने गड्ढे में तीनों बच्चे स्लैब के नीचे दब गए। मौके पर ही उनकी मौत हो गई। तीनों पुनाईचक के रोड नंबर छह स्थित झोपड़पट्टी के रहने वाले थे।

हादसे के बाद उग्र लोगों ने बेली रोड पर जमकर बवाल किया। आवागमन को बाधित कर दिया। हादसे के बाद आए जेसीबी को देख लोग भड़क गए और उसके चालक पर हमला कर दिया। चालक भाग खड़ा हुआ। लोगों ने  बेली रोड की ओर से गुजर रहे दो राहगीरों की पिटाई कर दी जिससे वे घायल हो गए।

पीएमसीएच भेजे गए शव 
बच्चों शवों को पीएमसीएच ले जाया गया। वहीं पर मृतक बच्चों के परिजन पहुंचे। गुरुवार की सुबह मासूमों के शव का पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। भारी संख्या में पुलिस बल को पीएमसीएच भेज दिया गया था। 

रोज खेलते थे बच्चे 
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक यहां बच्चे रोज खेलने आते थे। कुछ लोगों ने उन्हें मना भी किया था। बच्चों के परिजनों तक भी यह बात पहुंची थी। अगर उसी वक्त उन्होंने मासूमों को रोका होता तो शायद यह हादसा टल सकता था। 
सीएम नीतीश मर्माहत, 4-4 लाख देने का निर्देश
जवाहर लाल नेहरू मार्ग के ललित भवन के निकट हुए दुखद हादसे में तीन बच्चों की मौत पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काफी मर्माहत हैं। उन्होंने हादसे में मृत तीनों बच्चों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये अनुग्रह अनुदान देने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने मृत बच्चों के परिजनों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है। 
घटना दुखद है। स्लैब कैसे गिरा, यह जांच का विषय है। इसकी जांच भी होगी। लेकिन स्लैब के गिरने से परियोजना की गुणवत्ता का कोई लेना-देना नहीं है।      -अमृत लाल मीणा, प्रधान सचिव, पथ निर्माण विभाग

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।