Breaking News

कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ा, आनंद विहार से पूर्णिया जा रही ट्रेन को वैक्यूम कर भागे सैकड़ों प्रवासी


मानसी-सहरसा रेलखंड के सिमरी बख्तियारपुर में रानी बाजार ढाला के समीप ट्रेन को वैक्यूम कर मंगलवार की सुबह सैकड़ों प्रवासी लोग भाग गए। इसकी जानकारी मिलने के बाद प्रशासनिक महकमा में खलबली मच गई।
सिमरी बख्तियारपुर के बीडीओ मनोज कुमार ने पहुंचकर स्टेशन अधीक्षक बी. के. वर्मा से जानकारी ली। बीडीओ ने एसएस से पूछा आनंद विहार से पूर्णिया जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन (04062) के सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन क्रॉस करने और रानीबाग ढाला के समीप वैक्यूम(चेन पुलिंग) की जानकारी ली। इधर बीडीओ ने बताया कि सुबह 8.36 बजे से पांच मिनट तक श्रमिक स्पेशल ट्रेन को रानीबाग ढाला के पास वैक्यूम कर प्रवासी लोगों के उतरने की सूचना मिली है। उसके बाद निकटवर्ती पंचायतों के मुखिया को अलर्ट करते गांव आने वाले किसी भी प्रवासी लोगों की सूचना देने के लिए कहा गया है। 
बाहर से आए प्रवासी लोगों को प्रखंड कार्यालय या रायपुरा में मेडिकल जांच के लिए लाने को कहा गया है। उल्लेखनीय है कि ट्रेन से प्रवासियों के उतरने के बाद सिमरी नगर पंचायत, चकभारो, खमोती, महखड़, तरियामा, बनमा के इटहरी, महारस, जमालनगर, रसलपुर, सरबेला, घुड़दौड़ सहित अन्य जगहों को अलर्ट किया गया है।
बिना गश्ती दल के थी रेलगाड़ी
सिमरी बख्तियारपुर के रानीबाग ढाला समीप पूर्णिया जाने वाली जिस ट्रेन को वैक्यूम किया गया वह बिना गश्ती दल के थी। मंगलवार की सुबह 9.13 बजे जब ट्रेन(04062) सहरसा पहुंची एक भी गश्ती दल के जवान नहीं थे। इस ट्रेन के बाद सहरसा स्टेशन पहुंची आनंद विहार-मधेपुरा श्रमिक स्पेशल ट्रेन (09353) भी बिना एस्कॉर्ट पार्टी के ही थी। जलालपुर-सहरसा और बरौनी-सुपौल भी बिना गश्ती दल के थी। ऐसे में बड़ा सवाल बिना एस्कॉर्ट पार्टी (गश्ती दल) के प्रवासी लोगों की निगरानी कैसे रखी जाती होगी। क्या बिना निगरानी वाली इन ट्रेनों में सफर करने वाले प्रवासी लोग और भी जगहों पर वैक्यूम कर भाग नहीं जाते होंगे।

ट्रेन को वैक्यूम कर पानी के लिए मचाया हंगामा
मंगलवार को ही दिन के 11.36 बजे सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन से कुछ दूर आगे आनंद विहार से मधेपुरा जा रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन को वैक्यूम कर प्रवासी लोगों ने रोक दिया। ट्रेन को रोककर पानी के लिए लोग हंगामा मचाने लगे। लोगों का कहना था कि प्रचंड गर्मी के बीच बिना पानी के हमलोग परेशान हैं। इसके बाद वहां के स्थानीय लोगों ने उन्हें पानी पिलाया और तब वे शांत हुए। 
सहरसा में उतरे प्रवासी लोग
चिंगलपट्टी से सुपौल जाने वाली स्पेशल ट्रेन (06168) मंगलवार की अहले सुबह 4.55 बजे सहरसा स्टेशन पहुंची। इससे मात्र 16 प्रवासी लोग उतरे। सुबह 6.03 बजे जलालपुर-सहरसा से 148 लोग आए। आनंद विहार से पूर्णिया जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन (04060) सुबह 6.50 बजे पहुंची। इससे 188 लोग सहरसा स्टेशन पर उतरे। आनंद विहार से ही पूर्णिया जा रही स्पेशल ट्रेन (04062) सुबह 9.13 बजे सहरसा पहुंची और इससे 247 प्रवासी उतरे। स्टेशन पर उतरे लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। आनंद विहार से मधेपुरा जाने वाली स्पेशल ट्रेन(09353) दिन के 11.57 बजे पहुंची। इससे 272 प्रवासी उतरे। दोपहर 2.22 बजे पहुंची बरौनी-सुपौल स्पेशल (05211) से 574 प्रवासी लोग उतरे। विलंब से पहुंची इन सभी ट्रेनों से उतरे प्रवासियों की स्टेशन पर ही थर्मल स्क्रीनिंग की गई। 
फिर किया ट्रेन वैक्यूम पर प्रशासन ने लोगों को रोक लिया : 
पटियाला से सहरसा आ रही श्रमिक स्पेशल ट्रेन 4534 को भी सिमरी बख्तियारपुर के रानीबाग ढाला समीप शाम 4.23 बजे वैक्यूम किया गया। लेकिन इस बार बीडीओ मनोज कुमार और थानाध्यक्ष रणवीर कुमार ने ट्रेन से उतरे 180 श्रमिक प्रवासी को रोक लिया। उन्हें सिमरी स्टेशन लाकर जांच कराने की प्रक्रिया शुरू कराने में प्रशासन जुटा है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।