Breaking News

रक्तदान के क्षेत्र में रेड क्रॉस का योगदान ऐतिहासिक: सचिव



 रेडक्रॉस दिवस पर रक्तदान शिविर का हुआ आयोजन

छपरा से पन्नालाल कुमार की रिपोर्ट

छपरा : देश और दुनिया में रक्तदान करने तथा ब्लड बैंक का प्रबंधन करने के मामले में रेड क्रॉस सोसाइटी का योगदान ऐतिहासिक है। उक्त बातें इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के जिला सचिव जिन्नत जरीना मसीह ने सदर अस्पताल के ब्लड बैंक में आयोजित रक्तदान शिविर में शुक्रवार को कही।

वही संस्था के कोषाध्यक्ष डॉ सुरेश प्रसाद सिंह ने कहा कि विश्व रेड क्रॉस दिवस पूरे विश्व मे 8 मई के ही दिन मनाया जाता है। इस दिन विश्व रेड क्रॉस के संस्थापक सर हेनरी डोनाल्ड का जन्म स्विट्ज़रलैंड के जेनेवा प्रान्त में 1828 में हुआ था।इसलिए इस दिन को रेड क्रास दिवस के रूप में मनाया गया।

युवा रेड क्रॉस सोसाइटी के सचिव अमन राज ने कहा के जिले में युवा इकाई के गठन के बाद रक्तदान के प्रति युवाओं को एक नई सोच व दिशा मिली है। युवा आज न केवल खुद रक्त दान कर रहे हैं, बल्कि दूसरों को भी प्रेरित कर रहे हैं, जिसके बदौलत आज छपरा ब्लड बैंक आत्मनिर्भर बन गया है।

सामाजिक दूरी बनाते हुए ब्लड बैंक छपरा में इस वैश्विक महामारी में जिस जिस ब्लड ग्रुप के ब्लड की कमी ब्लड बैंक में थी उनके पूर्ति के लिए रेड क्रॉस सोसाइटी शाखा सारण के द्वारा रेड क्रॉस दिवस के उपलक्ष्य में ब्लड डोनेशन कैम्प का आयोजन किया गया जिसमे निर्भय कुमार,रिंकू कुमार साह,सतीश कुमार,छोटू सिंह और अन्य ने रक्तदान किये।

वही शाम में रेड क्रॉस दिवस के उपलक्ष्य में छपरा जंक्शन पे प्रशासन के देख रेख में युवा क्रांति रोटी बैंक के साथ मिलके रेड क्रॉस ने 101 जरूरतमंद लोगों को भोजन कराई।जिसमे युवा रेड क्रॉस सदस्य मनीष कुमार मणी,अमन सिंह,राहुल कुमार औऱ भुनेश्वर कुमार और अन्य थे।

 ब्लड फ़ॉर सारण के सतीश ने कहा कि रेड क्रॉस सोसाइटी की ओर से चिकित्सा तथा समाज सेवा के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका शुरू से ही निभाई जा रही है। खासकर रक्त दान के मामले में सोसायटी ने आदर्श स्थापित किया है।

वही सारण जिले के युवा समाज सेवी संजीव कुमार चौधरी ने अपने संबोधन में कहा कि सारण जिले में सभी युवा अब रक्तदान के लिए जागरूक हो आगे आ रहे है जिसका परिणाम है कि ब्लड बैंक छपरा में अब खून की कमी नही होती है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।