Breaking News

कश्मीर में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान के गांव पहुंचे बिहार के डीजीपी, कहा- शहीद संतोष के बलिदान को सलाम करता हूं


बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय गुरुवार को सीआरपीएफ के शहीद जवान संतोष कुमार के पैतृक गांव औरंगाबाद जिले के देवहरा पहुंचे। यहां पहुंचकर डीजीपी ने शहीद संतोष के परिजनों से मुलाकात की। 
शहीद के परिजनों से मुलाकात करने के दौरान डीजीपी ने कहा कि संतोष कुमार की शहादत पर पूरे देश को गर्व है। उनके बलिदान को सलाम करता हूं। उनकी शहादत की तुलना पैसों से नहीं की जा सकती है। माता मालती कुंवर, पत्नी दुर्गा मिश्रा, भाई विजय मिश्रा एवं पंकज मिश्रा को को ढाढस बंधाते हुए कहा कि यह बहुत ही दुखद क्षण है। पूरा विभाग उनके साथ है। 
डीजीपी ने शहीद संतोष के संतान के बारे में भी पूछा। जब परिजनों ने बताया कि संतोष की पत्नी दूसरी बार मां बनने वाली है तो डीजीपी भावुक हो गये। विधवा को राज्य सरकार की ओर से 11 लाख रुपए का चेक दिया और सभी का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इस दुख की घड़ी में हिम्मत से काम लेना है। स्थानीय लोगों ने देवहरा के चौक का नामकरण शहीद संतोष के नाम से करने की मांग की। 
डीजीपी ने कहा कि इस दिशा में पहल की जाएगी। डीजीपी गुरुवार की देर शाम शहीद के घर पहुंचे। इस मौके पर डीएम सौरभ जोरवाल, एसपी दीपक वर्णवाल, एसडीओ अनुपम सिंह, बीडीओ संजय पाठक सहित कई पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे। विदित हो कि चार दिनों पूर्व कश्मीर में आतंकी हमले में संतोष मिश्रा शहीद हो गए थे। बुधवार को उनके शव का अंतिम संस्कार किया गया था।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।