Breaking News

दरियापुर क्षेत्र के ककरहट गांव के किसान लगातार दस दिनों से अंधड़-पानी मार झेल रहे है


दारियापुर से अमित कुमार की रिपोर्ट
दरियापुर क्षेत्र के ककरहट गांव के किसान
लगातार दस दिनों से अंधड़-पानी मार झेल रहे है उनकी गेहूं की खड़ी फसल तबाह होने की कगार पर है। बारिश के साथ इस गर्मी में ओले भी कई इलाकों में गिर रहे हैं। मौसम के इस बिगड़े मिजाज ने किसानों को मुश्किलों में डाल दिया है। पखवाड़े भर पूर्व खेतों में पक चुकी गेहूं की फसल को न किसान काट पा रहे हैं और खलिहान में काटकर रखे गेहूं की मिसाई कर पा रहे हैं। बारिश से गेहूं में नमी आ जा रही है इस कारण थ्रेसर से मिसाई भी करना मुश्किल हो चुका है। लगातार अंधड़-पानी के बीच शुक्रवार को सुबह के करीब 9 बजे अचानक आंधी के साथ बारिश हुई इससे गेहूं की फसल को भारी नुकसान पहुंचा है।ककरहट ग्राम निवासी किसान ओमप्रकाश सिंह और अशोक सिंह का कहना है कि इस बार गेहूं की फसल काफी अच्छी थी क्योंकि मौसम भी गेहूं के अनुकूल था। अधिकांश किसानों ने देर से गेहूं की बुआई की थी किन्तु बीते दस दिनों से लगातार मौसम के बिगड़े मिजाज ने किसानों को परेशानी में डाल दिया है। जीतोड़ मेहनत के बाद लहलहाती गेहूं की फसल की कटाई के बाद मिसाई से किसानों को दोहरा लाभ मिलने की उम्मीद थी। गेहूं के साथ भूसे की भी मांग अधिक होने के कारण किसानों के लिए गेहूं की फसल फायदेमंद साबित होने वाली थी किन्तु मौसम ने किसानों की उम्मीद और मेहनत पर पानी फेरने का काम किया है। लगातार दस दिनों से अचानक आसमान में बादल मंडराने लगते हैं और तेज हवाओं के साथ बारिश भी होने लगती है। तीन दिन पूर्व शाम को अंधड़ के साथ लगभग दो घंटे जमकर बारिश हुई। ऐसे में किसान पकी हुई गेहूं की फसल की कटाई रोक चुके थे। दो दिन बूंदाबादी बंद थी किन्तु आसमान में बादल छाए हुए थे, अंधड़ जारी था। इस बीच शुक्रवार सुबह 9 बजे तेज आंधी के साथ बारिश भी होने लगी। पहले से ही गेहूं की स्थिति चिंताजनक थी बालिया काली पड़ रही थी किन्तु आज के पानी  के बाद अब किसानों को एक-दो दिन और गेहूं की कटाई के लिए ठहरना पड़ेग।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।