Breaking News

विश्व तंबाकू निषेध दिवस: कोरोना से जान गंवाने वालों का धूम्रपान से है सीधा संबंध: सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र।



बिहार खबर की रिपोर्ट

मुंगेर: 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर पूर्वी चंपारण निवासी मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने रविवार को शहर में एक मकान के नीचे रखें बालू पर अपनी कलाकृति बनाई। अपनी कलाकृति के माध्यम से लोगों को जागरूक करते मधुरेन्द्र ने बताया कि तंबाकू का इस्तेमाल कोरोना के लक्षणों के गंभीर होने का खतरा बढ़ा देता है। धूम्रपान नहीं करने वालों की तुलना में ऐसा करने वाले मरीजों पर कोरोना का ज्यादा खतरा है। कोरोना के कारण जान गंवाने वालों में ऐसे लोग ज्यादा हैं, जो धूम्रपान करते हैं।

थूकने से संक्रमण का खतरा : धूम्रपान से दिल, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, क्रोनिक रेस्पिरेटरी या कैंसर जैसी समस्याएं बढ़ती हैं, जिससे कोरोना संक्रमित मरीज गंभीर लक्षणों को सहन नहीं कर पाते। आईसीएमआर का भी कहना है कि तंबाकू खाकर थूकने से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।

बता दे कि अंतराष्ट्रीय ख्याती प्राप्त सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र अंतराष्ट्रीय रेत कला उत्सव के विजेता हैं। वे पूर्वी चंपारण जिले के चुनाव आयोग का ब्रांड एंबेसडर भी हैं। इनको सैकड़ों राष्ट्रीय अंतराष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजे जा चुके हैं। फिलहाल ये होली के समय से ही लॉक डाउन में फसकर अपने ससुराल मुंगेर में ही समय बिता रहें हैं।

गौरतलब हो युवा रेत कलाकार मधुरेन्द्र ऐसे ही महत्वपूर्ण तिथियों और ज्वलंत विषयों पर अपनी कलाकृतियां बनाकार समाज और राष्ट्र के नाम से दुनियांभर के लोगों को एक नया संदेश देने में जुटे रहते हैं।

मौके पर उपस्थित दर्जनों लोगों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करतें धूम्रपान का सेवन नहीं करने का शपथ भी ली।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।