Breaking News

मरहिया गाँव में मांस को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष।एक दर्जन से अधिक लोग घायल। पुलिस कर रही है गश्ती।


लौरिया से रविशंकर मिश्र की रिपोर्ट
लौरिया। थानाक्षेत्र के मरहिया गाँव में मीट को लेकर दो पक्षों में कहासुनी व बकझक के बाद शुक्रवार को शाम में जमकर मारपीट हुई, जिसमें आधा दर्जन लोग काफी गंभीर हो गए। उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद बेतिया गवर्मेंट हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया है। गाँव में काफी तनावपूर्ण स्थिति हो गई है, लेकिन स्थिति नियंत्रण में है। घटनास्थल पर शिकारपुर अंचल निरीक्षक उपेन्द्र कुमार, लौरिया थानाध्यक्ष रणधीर कुमार भट्ट के साथ साठी थाना की पुलिस कैम्प कर रही है और ग्रामीणों को समझा कर घर में रहने की हिदायत दे रही है। इधर दोनों पक्षों में तनाव बना हुआ है।
विदित हो कि इधर कोरोना वायरस के भय व लॉक डाउन के कारण लौरिया में चीक मीट नहीं बना रहे हैं। इधर अधिकांशतः चीक मरहिया गाँव के ही रहने वाले हैं। वे अपने दरवाजों या अन्य स्थलों पर मीट बना कर बेच रहे हैं। वहीं ग्रामीणों के अनुसार एक पक्ष के लड़के गाँव में मीट खरीदने के लिए गए, जहां उन्होंने अपने परिजनों से जाकर शिकायत की कि चीक खस्सी को हलाल करने के बाद उसके अंगों को मुँह से फुला रहे हैं। जहाँ एक पक्ष के लोग चीक को मना किया और बात बकझक के बाद हिंसक झड़प लेकर लाठी, डंडा के साथ ईंट- पत्थर से मारपीट करने लगा और दोनों पक्षों में करीब एक दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए।
उधर दूसरे पक्ष का आरोप है कि एक पक्ष द्वारा मीट रखने के लिए कहा गया था। मीट खत्म होने की बात कही गई, जिससे वह पक्ष नाराज हो गया और मारपीट करने लगा।बात बढ़ने पर दोनों पक्षों में मारपीट शुरू होकर हिंसक रूप धारण कर लिया। रेफर होने वालों में मधुरेन्द्र सिंह, धर्म सिंह, बलवंत सिंह, गुरुवंत सिंह हैं, जबकि दूसरे पक्ष के घायलों में एकराम, इम्तेयाज, रुस्तम, नौशाद आदि हैं। शेष दोनों पक्षों के घायलों का ईलाज गांवों व अन्य जगहों पर हो रहा है। इधर योगापट्टी, नवलपुर, शनिचरी आदि थाना की पुलिस भी घटनास्थल पर पहुंचकर गाँव के लोगों को नियंत्रण करने में लगी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।