Breaking News

घोड़ासहन पीएचसी के प्रभारी और कर्मी को निलम्बीत करने की माँग को लेकर ,जाप छात्र परिषद् का अनिश्चितक़ालीन अनशन शुरू




घोड़ासहन से बिहार खबर चीफ ऑफ फाउंडर सुभाकर कुमार कुशवाहा की रिपोर्ट
घोड़ासहन: बीते दिनो घोड़ासहन स्थित मदरसा चौक पर अज्ञात मज़दूर के बेहोशी के बाद मौत पर अब तूल पकड़ लिया हैं,जन अधिकार पार्टी(लोक) के छात्र ज़िलाध्यक्ष आकाश  कुमार सिंह ने पीएचसी प्रभारी समेत सभी दोषी कर्मियों को निलबित करने की माँग  लेकर पीएचसी परिसर में सोशल डिस्टेनश  पालन करते हुए अनिश्चितक़ालीन अनशन पर बैठ गये हैं,जाप छात्र परिषद् के ज़िलाध्यक्ष आकाश कुमार सिंह  ने कहा कि भूख के वजह से बेहोश पड़े मज़दूर को पीएचसी का एम्बुलेंस हीन दृष्टि से देखते हुए मज़दूर को वापस नही लायी ,लेकिन बाद में घोड़ासहन थानाध्यक्ष और स्थानीय मुखिया के सकारात्मक पहल पर उक्त मज़दूर को पीएचसी इलाज के लिए लाया गया लेकिन पीएचसी में भी पीएचसी प्रभारी समेत अन्य कर्मियों द्वारा मज़दूर का इलाज नही किया गया,श्री सिंह ने बताया की जब पीएचसी द्वारा मज़दूर को सदर अस्पताल भेजा गया तो वहाँ भी पीएचसी के एम्बुलेंस चालक द्वारा लापरवाही की गयी और मज़दूर को बिना भर्ती किए हीं अस्पताल के फ़र्श पर रख कर वापस आ गया और 15घंटे तक उसी हाल में रहने के बाद मज़दूर की मौत हो गयी.ज़िलाध्यक्ष आकाश कुमार सिंह ने कहा कि इस घटना को लेकर उन्होंने पूर्व में मुख्यमंत्री कमको पत्र लिखकर घोड़ासहन पीएचसी प्रभारी समेत इस घटना में दोषी कर्मियों को निलम्बित करने की माँग की थी लेकिन कोई सकारात्मक पहल नही होने के बाद ज़िलाधिकारी को पत्र लिखकर दोषियों को निलम्बित करने के लिए 48 घंटे  का एलटीमेटम दिया लेकिन अल्टीमेटम के बाद भी ना हीं सरकार और ना प्रशासन के तरफ़ से सकारात्मक पहल नही हुई हैं ,श्री सिंह ने कहाँ की जब तक पीएचसी प्रभारी समेत अन्य कर्मी को निलम्बित नही किया गया तथा मृतक के परिजन को उचित मुआवज़ा नही दिया जाता है तब तक अनशन जारी रहेगा.

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।