Breaking News

मैनाटाँड़: सोशल डिस्टेंस का पालन कर भाकपा-माले ने दिया धरना





मैनाटाँड़ से संवाददाता अमित सागर की रिपोर्ट
प० चम्पारण, मैनाटाँड़। लॉॅकडाउन के बीच देशभर में फंसे बिहार के 40 लाख से ज्यादा मजदूरों की उनके घर वापसी एवं दस हजार रुपए आर्थिक मदद देने की मांग को लेकर भाकपा-माले के कायकर्ताओ द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया ।
👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇
देश दुनिया के तमाम खबर से रु-बरु होने के लिए इस पेज को लाइक करे फ्लो करे । और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। धन्यवाद...। 🙏🙏🙏🙏🙏

👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆

मौके पर  प्रखंड स्थित भाकपा माले कार्यकर्ताओं द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए। आपने घरों पर भूख हड़ताल की और धरना देकर मजदूरों को इस कोरोना महामारी  संकट में घर बुलाने, ₹10000 लॉक डाउन भत्ता देना  एवं मृतक परिवारों को 20 लाख मुआवजा देने  की मांग की। जिला सदस्य सीताराम ने बताया कि सिर्फ उन्हीं मजदूरों को वापस आने की इजाजत मिली है
👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇
देश दुनिया के तमाम खबर से रु-बरु होने के लिए इस पेज को लाइक करे फ्लो करे । और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। धन्यवाद...। 🙏🙏🙏🙏🙏

👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆

जो अचानक वे लोग डाउन के कारण देश के दूसरे हिस्से में फस गए थे जो पहले से वहां काम कर रहे हैं उन्हें नहीं लाया जाएगा सच्चाई यह है कि लॉक डाउन के बाद सबसे अधिक महामारी मजदूरों पर पड़ा है, क्योंकि उनका रोजगार बंद हो गया है। लॉकडाउन के कारण दूसरे प्रदेश में फसे हुए मजदूर भूखमरी के कगार पर है उन्हें कोई भी सुविधा नहीं दी जा रही है। इसलिए केंद्र और राज्य सरकार से माले नेताओ ने मांग की कि जल्द से जल्द सभी मजदूरों की घर वापसी कराकर राहत भत्ता की व्यवस्था की जाए। तथा उन्होंने नीतीश कुमार द्वारा जारी प्रवासी मजदूरों के लिए किराया देने वाले बयान को भी भ्रामक और छलावा बताया।
👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇
देश दुनिया के तमाम खबर से रु-बरु होने के लिए इस पेज को लाइक करे फ्लो करे । और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। धन्यवाद...। 🙏🙏🙏🙏🙏

👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆👆

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।