Breaking News

जल्द खुलेगा निजी स्वास्थ्य संस्थान, राज्य सरकार द्वारा की गई अपील



राज्य स्वास्थ्य विभाग ने भारतीय चिकित्सक संघ से की अनुरोध 

भारतीय चिकित्सक संघ को सुरक्षा उपकरणों की खरीद के लिए विवरण करायी गयी उपलब्ध 

पूर्णियाँ/ 17 मई: 

पनालाल कुमार की रिपोर्ट 

कोरोना के बढ़ते प्रसार के मद्देनजर राज्य में कई निजी स्वास्थ्य संस्थानों ने आपातकालीन एवं सामान्य सेवाएं रोक दी थी. इसको लेकर पूर्व में ही स्वास्थ्य विभाग द्वारा राज्यहित एवं लोकहित को ध्यान में रखते हुए राज्य के सभी निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, क्लिनिक, फार्मेसी एवं डायग्नोस्टिक सेंटर के सभी प्रमुख प्रबंधकों को उनके स्वास्थ्य संस्थानों द्वारा पूर्व से उपलब्ध करायी जा रही सामान्य एवं आपातकालीन सेवाओं को बहाल करने के निर्देश दिए गए थे. लेकिन राज्य के दैनिक समाचार पत्रों में भारतीय चिकित्सक संघ(आईएमए) के द्वारा सरकार के इस निर्णय का विरोध किया गया है. साथ ही समाचार पत्रों के माध्यम से इस विरोध को जताया भी गया है. जिसमें यह समाचार प्रकाशित किया गया कि राज्य के निजी चिकित्सक स्वास्थ्य विभाग के इस आदेश का विरोध करते हैं. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग निजी अस्पतालों को कोविड-19 को लेकर आवश्यक सुरक्षा उपकरण एवं सामाग्री दें या मार्केट से उपलब्ध करायें. अन्यथा निर्देश की अवहेलना करने के एवज में वे जेल जाने को भी तैयार हैं. इस पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रेस नोट जारी कर पूरे प्रकरण पर सफाई दी गयी है एवं निजी स्वास्थ्य संस्थानों को पुनः आपातकालीन एवं सामान्य स्वास्थ्य सेवा बहाल करने की अपील भी की गयी है. 

निजी स्वास्थ्य संस्थानों को रोग संबंधित उपकरण एवं सामाग्री उपलब्ध कराने का कोई उदाहरण नहीं:
भारतीय चिकित्सक संघ द्वारा निजी अस्पतालों को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध कराये जाने की बात पर स्वास्थ्य विभाग ने इसपर जवाब दिया है. स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि पूर्व में निजी प्रक्षेत्र के स्वास्थ्य संस्थानों को किसी भी रोग की चिकित्सा से संबंधित कोई उपकरण अथवा सामाग्री उपलब्ध कराने का कोई उदाहरण नहीं हैं क्योंकि निजी स्वास्थ्य संस्थानों द्वारा दी जाने वाली सेवा के लिए रोगी या उनके परिजन से शुल्क लिया जाता है. इसलिए कोविड-19 के इस दौर में उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा सुरक्षा उपकरण प्रदान कराने का कोई ठोस औचित्य नहीं है.

बीएमएसआईसीएल द्वारा एमसीआई को सुरक्षा उपकरणों की खरीद के लिए दिया गया विवरण:
स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी दी है कि कोरोना संक्रमण काल में राज्य के सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में कोविड-19 के उपचार के लिए विभाग के प्रोक्योरमेंट एजेंसी, बीएमएसआईसीएल( बिहार चिकित्सा सेवाएं एवं आधारभूत संरचना निगम के द्वारा कोरोना रोकथाम के लिए आवश्यक उपकरण एवं अन्य सामाग्रियों को खुले बाजार से जिन आपूर्तिकर्ताओं से प्राप्त की जा रही है, उन आपूर्तिकर्ताओं की पूर्ण सूचना( दर के साथ) निगम के प्रबंधक निदेशक द्वारा भारतीय चिकित्सक संघ( आईएमए) को उपलब्ध करा दी गयी है. स्वास्थ्य विभाग ने भारतीय चिकित्सक संघ से अनुरोध किया है कि राज्यहित में निजी प्रक्षेत्र के स्वास्थ्य संस्थानों को पहले की तरह कार्यरत करायें.

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।