Breaking News

बेतिया का मुस्लिम परिवार गरीबों की मदद के लिए आया सामने,हर रोज सैकड़ो लोगों की कर रहे मदद


बेतिया से संवाददाता घनश्याम की रिपोर्ट

बेतिया।बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिला में साम्प्रदायिक सोहार्द का बेहतरीन उदाहरण देखने को मिल रहा है जंहा एक  मुस्लिम परिवार कोरोना संकट में गरीबों के लिए  मसीहा बनकर सामने आया है।

आलम यह है कि यह परिवार हर रोज सैकड़ों लोगों की सहायता कर रहा है।इतना ही नहीं यह परिवार सक्षम लोगो से देश के पीएम नरेंद्र मोदी के बताए रास्ते पर चलकर गरीबो की मदद करने की अपील भी कर रहा है।बेतिया जिले के बैरिया प्रखंड के नया बस्ती गांव  का मुस्लिम परिवार संकट इस घड़ी में गरीबों व असहाय लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आया है।


यह परिवार हर रोज ढाई सौ से 300 परिवारों को राहत सामग्री उपलब्ध करा रहा है।हर जरूरतमंद परिवार को लगभग 2100 रुपये की राहत सामग्री दी जा रही है।पति पत्नी व बेटी सहित तीन लोगो का यह परिवार रमजान के पाक महीने में गरीबो की मदद कर ईश्वर की सच्ची इबादत में दिन रात लगा हुआ है।इतना ही नही देश के पीएम मोदी व नीतीश कुमार का मुरीद बन चुका यह मुस्लिम परिवार उद्दोगपतियों व धनी लोगो से गरीबो की मदद के लिए आगे आने की गुहार भी लगा रहा है।

इंसानियत व मानवता की नई इबारत लिखने वाले  बैरिया प्रखंड के नया बस्ती गांव के पूर्व मुखिया शेख अमरुल्लाह अपनी पत्नी साजदा खातून औऱ पुत्री रिमी रजा के साथ मिलकर इंसानियत की मिसाल पेश कर रहे है।लॉकडाउन में गरीब व असहाय लोगों के लिए  कुछ करने की इच्छा,कोरोना महामारी और रमजान के वक्त इस परिवार ने  कुछ ऐसा करना चाहा कि इस लॉकडाउन में कोई भी गरीब व असहाय परिवार भूखा ना रहे।ना सिर्फ अपने जिले व प्रखंड बल्कि आस पास के जिले में भी राहत पहुंचा रहे शेख अमरुल्ला देश के दूसरे धनी व सम्पन्न लोगो से भी गरीबो को मदद करने की अपील कर रहें है।शेख अमरुल्ला व उनका परिवार व धर्म व मजहब से ऊपर उठकर समाज के उस आखिरी पायदान के लोगों को मदद पहुंचा रहे है जिनके पास किसी कारण से सरकारी सहायता नहीं पहुंच सकी है।कहा गया है कि जो भी इस धरती पर आया है उसे एक दिन खाली हाथ ही जाना है।ऐसे में नेक दिल इंसान जब दुसरो का दर्द अपने दिल मे महसूस करते है तो वह आंखों से आँसू बनकर बाहर आ जाता है।शेख अमरुल्ला व उनका परिवार भी लोगो का दर्द महसूस कर रहा है और यह परिवार लोगो के दर्द व दुख को महसूस कर उसे दूर करने की हरसंभव कोशिश में लगा है जो विगत 21 अप्रैल से लगातार जारी है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।