Breaking News

BREAKING NEWS: जिन्हें राशन कार्ड की रिसिविंग मिली है. उन्हें लॉक डाउन के बाद राशन कार्ड मिलेगा.राशन कार्ड बनेगा, तब जाकर वह राशन ले पाएंगे: बीडीओ राघवेंद्र त्रिपाठी




बेतिया से संवाददाता दीपू कुमार गिरि/मनोज मिश्रा। की रिपोर्ट


पश्चिमी चम्पारण: ग्रामीणों की मानें तो राशन कार्ड के लिए उन्होंने कई बार ब्लॉक का चक्कर काटा. लेकिन ब्लॉक बाबू यह बोल कर वापस लौटा देते हैं की कल आईगा. उनका कहना है कि इस लॉक डाउन हम कहां जाएं. घर में खाने के लिए राशन भी नहीं है
 नरकटियागंज प्रखंड हरदी टेढ़ा पंचायत के सितवापुर और हरदी टेढ़ा गांव के सैकड़ो दलित परिवार इस लॉक डाउन में राशन नहीं मिलने से परेशान हैं. आए दिन उनके सामने भूखमरी की स्थिति बनती जा रही है. राशन लेने डीलर के पास जाते हैं तो उन्हें यह बोलकर राशन नहीं दिया जाता कि राशन कार्ड की सूची में आपका नाम नहीं है.सैकड़ो दलित परिवार राशन नहीं मिलने से परेशान
बता दें कि 2018 में इन्होंने राशन कार्ड बनाने के लिए आवेदन दिया था, उन्हें ब्लॉक की ओर से रिसिविंग भी दे दी गई है. लेकिन राशन कार्ड दो साल से नहीं मिला है. जिस कारण यहां के सैकड़ो दलित परिवार राशन नहीं मिलने से परेशान हैं. ग्रामीणों की मानें तो राशन कार्ड के लिए उन्होंने कई बार ब्लॉक का चक्कर काटा. लेकिन ब्लॉक बाबू यह बोल कर वापस लौटा देते हैं की कल आईगा. उनका कहना है कि इस लॉक डाउन हम कहीं बाहर काम करने भी नहीं जा सकते हैं. घर में खाने के लिए राशन भी नहीं है, ऐसे में हम क्या खाएं और बच्चों को क्या खिलाएं.जब नरकटियागंज के बीडीओ राघवेंद्र त्रिपाठी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि जिनके पास राशन कार्ड है. उन्हें ही राशन मिलेगा और जिन्हें राशन कार्ड की रिसिविंग मिली है. उन्हें लॉक डाउन के बाद राशन कार्ड मिलेगा. राशन कार्ड बनेगा, तब जाकर वह राशन ले पाएंगे

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।