Breaking News

हड़ताली टीईटी व नियोजित शिक्षक ठेला पर सब्जी बेंचने को मज़बूर।




बेतिया से संवाददाता दीपू कुमार गिरि/मनोज मिश्रा। की रिपोर्ट


पश्चिम चम्पारण: जिला अन्तर्गत नरकटियागंज प्रखंड के टीईटी व नियोजित हड़ताली शिक्षक वेतन के अभाव में सब्जियां बेंचने को विवश हैं। बिहार सरकार के हिटलरशाही रवैये को देखते हुए हड़ताली शिक्षकों को विभिन्न मुहल्लों में सब्जी बेचते हुए देखा जा रहा है। नरकटियागंज नगर परिषद स्थित ब्लॉक रोड में बिहार शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति नरकटियागंज के सदस्य बीरेंद्र सिंह, शिक्षक संघ के प्रखंड अध्यक्ष क्षमेन्द्र कुमार और शिक्षक प्रकाश कुमार गुप्ता ने ठेला घूमाकर सब्जियां बेंचा। उन्होंने बताया कि वे लोग विगत 2 महीनों से हड़ताल में हैं। सरकार इस हडताल से डरी हुई है एवं शिक्षकों से वार्ता नहीं करना चाह रहीं हैं। वैश्विक महामारी का बहाना बनाकर टाल-मटोल कर रही है, जबकि कोरोना से जंग में शिक्षक व शिक्षक प्रतिनिधि कदम से कदम मिला कर चल रहे हैं। शिक्षक नेताओं के अनुसार वेतनाभाव को लेकर 53 शिक्षक मौत के आगोश समा चुके हैं। शिक्षकों के हवाले से बताया गया है कि सरकार के संवेदनहीन रवैये के कारण नियोजित शिक्षक भुखमरी के कगार पर हैं। कोविड 19 कोरोना वैश्विक महामारी में सरकार व प्रशासन शिक्षकों के प्रति संवेदनहीन बनी हुई है। ऐसे में शिक्षक अपने परिवार को चलाने के लिए विभिन्न मोहल्लों में सब्जी बेचने को विवश है। सब्जियों को थोक विक्रेता से खरीदकर न्यूनतम मजदूरी के साथ बेचा जा रहा है। खरीदारी करने वालों को एक साबुन और एक मास्क भी दिया जा रहा है। शिक्षकों के ठेला से सब्जी खरीदने वालों को कोरोना वायरस से बचाव की जानकारी भी निःशुल्क दी जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।