Breaking News

बिहार : अब तक 42 लोग COVID-19 बीमारी से हुए ठीक, कम उम्र वालों में भी मिल रहा कोरोना वायरस



बिहार में कोविड-19 मरीजों की संख्या धीरे धीरे बढ़ती जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा आंकड़े के मुताबिक सूबे में  42 लोग अब तक कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी को हराकर घर लौट चुके हैं। बिहार में अभी फिलहाल 71 केस एक्टिव हैं।
कम उम्र वालों में भी तेजी से मिल रहे कोरोना वायरस : 
जानकारी के अनुसार बक्सर में 32 साल का एक पुरुष और 12, 12 साल की दो बच्चियां और 39 साल की तीन महिलाएं कोरोना पॉजिटिव मिली हैं। वहीं, पटना में 31 साल के एक लड़के को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। तो, मुंगेर से 20, 28, 34, 37 साल की 4 महिलाएं और 28, 34, 36 के तीन पुरुष शामिल हैं। रोहतास से 60 साल की एक महिला कोरोना पॉजिटिव मिली है।  

80 फीसदी मरीजों में नहीं दिख रहे कोरोना के लक्षण
बिना लक्षण वाले कोरोना पीड़ितों की बढ़ती संख्या ने बिहार में संक्रमण का खतरा बढ़ा दिया है। अस्पतालों में कोरोना पॉजिटिव होकर इलाज करा रहे लगभग 80 प्रतिशत लोगों में कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण नहीं दिख रहे हैं। उन्हें न तो सर्दी-खांसी हुई है न ही बुखार और न सांस लेने में परेशानी जैसी कोई शिकायत थी।
शरणम अस्पताल के कर्मियों में भी नहीं थे लक्षण
पीएमसीएच के कोरोना के नोडल पदाधिकाकारी डॉ. पीएन झा ने बताया कि जिनमें लक्षण नहीं है, उनसे भी उतनी ही तेजी से संक्रमण फैल सकता है जितना सर्दी-खांसी अथवा बुखार पीड़ित के संपर्क में आने से फैलता है। ऐसे लोग कम्युनिटी संक्रमण का बड़ा कारण अनजाने में बन सकते हैं। यह चिंता का बड़ा कारण है। वहीं राज्य में कोरोना के इलाज के लिए समर्पित अस्पताल एनएमसीएच के विशेषज्ञ डॉक्टरों का भी यही कहना है। एनएमसीएच में कोरोना के इलाज से जुड़े नोडल पदाधिकारी डॉ. अजय सिन्हा ने बताया कि बिहारशरीफ में सोमवार को पाए गए 16 मरीजों में से 11 में कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखे। इनमें न तो सर्दी, खांसी थी और न ही बुखार। लेकिन जांच में सभी पॉजिटिव निकले। यह कोरोना संक्रमित उनके करीबी रिश्तेदार से फैला था। उन्होंने बताया कि ऐसा ही लक्षण सीवान और मुंगेर से आए कोरोना पॉजिटिव मरीजों का था। उनमें से कई मरीजों ने किसी तरह की परेशानी की बात नहीं कही थी।
पटना में एक और मरीज :
बिहार की राजधानी पटना के खाजपुरा की संक्रमित महिला के घर से महज चंद दूरी पर एक युवक के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से हड़कंप मच गया है। महिला में संक्रमण की पुष्टि के बाद पूरे मोहल्ले को सील करने के साथ उसके संपर्क में आए लोगों का नमूना जांच के लिए भेजा गया था। पति सहित परिवार के अन्य सदस्यों का नमूना निगेटिव आया था, लेकिन पड़ोसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।