Breaking News

काेरोना से जंग: तेजस्वी ने कोरोना उन्मूलन कोष में दिया अपने पूरे कार्यकाल का आधा वेतन




नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपने कार्यकाल के बचे हुए समय में वेतन का आधा हिस्सा कोरोना उन्मूलन कोष में देने की घोषणा की। साथ ही अपने विधायक फंड से भी पहले दी गई 50 लाख की राशि को एक करोड़ कर देने का आग्रह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मकिया है। तेजस्वी पहले भी एक माह का वेतन देने के साथ सरकारी आवास को आइसोलेशन वार्ड बनाने का अग्रह कर चुके है। 
उन्होंने कहा है कि बिहार सरकार ने सभी विधायकों का 15 फ़ीसदी वेतन काटकर कोरोना उन्मूलन कोष में जमा करने का निर्णय लिया है। वह अपना आधा वेतन देंगे। कहा है कि विधायक निधि दिये गये एक करोड़ रुपए संबंधित विधायकों के अनुमंडल में ही जांच-उपचार संबंधित स्वास्थ्य उपकरणों व हेल्थ इंफ़्रास्ट्रक्चर पर खर्च किया जाए।
तेजस्वी प्रसाद यादव ने राज्य सरकार के सामने दर्जनभर मांगें रखी हैं। तेजस्वी ने कहा है कि इस कठिन समय में उच्च अधिकारियों के वेतन में भी कटौती होनी चाहिये। साथ ही बेरोजगरों को विशेष भत्ता मिलनी चाहिये। हमारी मांगे जनहित में है और वक्त की यही पुकार है। अधिक से अधिक जाँच केंद्र स्थापित होना चाहिए, पहले कम से कम हर प्रमंडल और फिर ज़िला में जाँच केंद्र हो। हॉट स्पॉट्स पर अधिक से अधिक लोगों का टेस्ट किया जाए। रैंडम टेस्ट किए जाए। सरकार स्वास्थ्यकर्मियों को पर्याप्त जाँच व सुरक्षा उपकरण मुहैया कराए। 
उन्होंने कहा है कि जांच केंद्रों में तत्काल सारी सुविधाएं पहुचाई जाय। पर्याप्त वेंटिलेटर की व्यवस्था हो। किसानों को क्षतिग्रस्त फ़सल का मुआवज़ा यथाशीघ्र मिलें। तीन माह के बिजली बिल माफ़ हो। छात्रों की तीन माह की फ़ीस माफ़ हो। ग़ैर-राशन कार्डधारियों को भी आर्थिक सहायता मिले। साथ ही प्रवासी कामगारों को राशन-भोजन की व्यवस्था हो। ग़रीबों और प्रवासी मज़दूरों के राशन एवं राशि भुगतान में किसी प्रकार की अनियमितता नहीं होनी चाहिये। 
नेता प्रतिपक्ष ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ की मांग का समर्थन किया है। राज्य सरकार से मांग की है कि नियमित की ही तरह संविदा पर नियुक्त स्वास्थ कर्मियों को भी प्रोत्साहन राशि दी जाए। 

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।