Breaking News

छपरा में गरीब परिवारों को दो वर्षों से निःशुल्क भोजन करा रहा है रोटी बैंक



सैंड आर्टिस्ट अशोक कुमार ने बनाया बालू की रेत से रोटी बैंक की कलाकॄति 

सारण से पनालाल कुमार की रिपोर्ट
छपरा (सारण) के सरयू नदी किनारे छपरा के मशहूर सैंड आर्टिस्ट अशोक कुमार के द्वरा शहर में गरीब असहायों के बीच प्रतिदिन निःशुल्क भोजन बितरण व देशहित में समर्पित एक ऐसा संगठन जो 2 वर्षो से प्रतिदिन लाचार,बेबस,जरूरतमंद बच्चे,बुढ़े एवं महिलाओं को जिसमें दिव्यांग,मानसिक विक्षिप्त,पारिवारिक तिरस्कृत लोग होते हैं उन्हें निःशुल्क रात्रि के समय भोजन कराती आ रही है ।
इस संगठन का नाम हैं रोटी बैंक अपने आप मे एक अनोखा बैंक जो एक अनोखा कार्य भी करती है जैसे इस रोटी बैंक में आप रोटी,चावल या कोई भी खाद्य पदार्थ जमा कर सकते है और उस खाद्य पदार्थ ,उस भोजन को ऑल इंडिया रोटी बैंक के सेवादार सड़क किनारे ,विभिन्न चौक चौराहों पर ,बस स्टैंड,रेलवे स्टेशनों पर रहने वाले लाचार ,बेबस जरूरतमन्दों के बीच वितरण का कार्य करती है।
दिलचस्प बात ये है कि इस बैंक की शुरुआत छपरा शहर में सोशल मीडिया के माध्यम से प्रेरित होकर महज सात पैकेट भोजन से शुरू हुई थी जो भोजन हम अपने घर से बनवाकर वितरण कर रहें थे ।
शुरुआत में तकरीबन 3 महीनों तक कुछ कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ा पर हमलोंगो ने हौसला नही हारा प्रतिदिन समर्पण भाव से सेवा जारी रखी ।किसी भी दिन सेवा बंद नहीं कि लगातार कार्य करते रहे।शुरू में लोगों की तरह तरह की बातें सुननी पड़ी परन्तु धीरे धीरे लोग जुड़ते चले गए सदस्यों की संख्या बढ़ी  ।परेशानियां खुद-ब-खुद कम होती चलीं गई और आज धीरे धीरे हमें इतना भोजन मिलने लगा कि हमलोग एडवांस बुकिंग करने लगे की किस तारीख को किससे भोजन लेना है।
आज हमलोग कम से कम 150 से 200 लोगों को भोजन उपलब्ध कराते हैं। आजकल जो वैश्विक महामारी कोरोना के कारण देश पूर्णतः लॉक डाउन है इस दरम्यान रोटी बैंक का दायित्व बढ़ गया है हमलोग अपने सदस्यों के साथ मिलकर आमजनों से प्राप्त राशन एवं भोजन जरूरतमन्दों तक पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं।एक परिवार के लिए एक सप्ताह के लिए राशन होता है करीब 50 से 60 परिवारों को रोज राशन एवं 250 से 300 लोगों का भोजन प्रतिदिन वितरण किया जा रहा है।इस कार्य मे मुख्य रूप से सेवा देने वाले सदस्य रविशंकर उपाध्याय, अभय पांडेय,राकेश रंजन,रामजन्म मांझी,सत्येंद्र कुमार,बिपीन बिहारी,संजीव कुमार,पिंटू कुमार,अशोक कुमार,कृष्ण मोहन,किशन कुमार,अश्विनी कुमार,रंजीत कुमार,राहुल कुमार,मणिदीप कुमार,विवेक कुमार एवं अन्य।
सैंड आर्ट के जरिए रोटी बैंक के सेवादार अशोक कुमार ने रोटी बैंक के सभी कोरोना कर्मवीर को सलाम करते हुए एक मैसेज दे रहे हैं कि आप भी इस संकट की घड़ी में आगे आएं और जरूरमन्दों कि मदद करें।
ये टीम भारत के 6 राज्य और 25 शहरों में सेवा दे रही है।हमे गर्व है कि हमसब इस टीम का हिस्सा हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।