Breaking News

अररिया में लॉकडाउन में जिला कृषि पदाधिकारी की गाड़ी रोकी तो चौकीदार से करवाई उठक-बैठक, वीडियो वायरल



अररिया: कोरोना लॉकडाउन के समय विपदा की इस घड़ी में पुलिसकर्मी अपनी जान की परवाह किए बगैर लोगों की सुरक्षा में दिन-रात एक किए हुए हैं, दूसर तरफ सरकारी मुलाजिम ही उन्हें अपनी हनक दिखाने के लिए सार्वजनिक रूप से प्रताड़ित हो रहे हैं। ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। बिहार के अररिया जिले के सुरजापुर पुल के पास ड्यूटी पर तैनात एक बुजुर्ग चौकीदार द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार की गाड़ी रोकने पर कान पकड़कर उठक-बैठक कराए जाने का वीडियो वायरल होने पर कई तरह के सवाल उठने लगे हैं।
एसपी धूरत सायली ने पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि वायरल वीडियो को लेकर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। एसपी ने कहा कि वायरल वीडियो की जांच का आदेश पुलिस अधिकारी को दिया गया है और मंगलवार को रिपोर्ट आ जाएगी और इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।
इसमें बैरगाछी ओपी के चौकीदार गणेश लाल ततमा कई पुलिसकर्मियों और जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार के सामने कान पकड़कर उठक-बैठक करते नजर आ रहे हैं। यही नहीं, चौकीदार बार-बार हाथ जोड़कर माफी मांगता हुआ भी दिख रहा है। वीडियो में एक दारोगा चौकीदार को डांट-फटकार करते सुनाई देते हैं और कहते हैं कि गलती किए हो तो 50 बार उठ-बैठ करो। पदाधिकारी हैं जानते नहीं हो।
बताया जाता है कि जिला कृषि पदाधिकारी  मनोज कुमार की गाड़ी रोकने पर चौकीदार को इस तरह की सजा दी गई है। हालांकि, इस संबंध में पूछे जाने पर बैरगाछी ओपी अध्यक्ष हरेंद्र कुमार ने बताया कि अपने को जिला कृषि पदाधिकारी कहने वाले एक शख्स ने चौकीदार पर पांच सौ रुपया लेकर गाड़ी छोड़ने का आरोप लगाया। इससे डरा-सहमा चौकीदार कान पकड़कर गलती मानते हुए उठक-बैठक करने लगा। उनका कहना है कि इस बीच वहां पहुंचे दारोगा गोविंद सिंह ने चौकीदार को ऐसा करने से मना भी किया और उन्हें डांट-फटकार भी की।
हालांकि, कई लोगों का कहना है कि चौकीदार ने उनकी गाड़ी को रोककर पास दिखाने को कहा तो जिला कृषि पदाधिकारी आग-बबूला हो गए। हिन्दुस्तान इस वायरल वीडियो की सत्यता प्रमाणित नहीं करता है लेकिन सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में यही सब कुछ दिख रहा है। इस संबंध में जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार से उनके सरकारी मोबाइल नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया गया तो एक बार फोन उठाकर उन्होंंने मीटिंग में होने की बात कहकर दो मिनट बाद बात करने कहा। इसके बाद लगातार फोन किया जाता रहा लेकिन फोन नहीं उठाया।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।