Breaking News

रोगियों की पहचान कर उन्हें “बिहार शताब्दी कुष्ठ कल्याण योजना“ के लाभ से आच्छादित किया जाय :जिलाधिकारी।



 संवाददाता बेतिया दीपू कुमार गिरि के साथ घनश्याम।की रिपोर्ट


पश्चिमी चम्पारण : जिलाधिकारी कुंदन कुमार ने कहा कि जिले के विभिन्न जगहों पर निवास करने वाले छूटे हुए कुष्ठ रोगियों की पहचान कर उन्हें “बिहार शताब्दी कुष्ठ कल्याण योजना“ के लाभ से आच्छादित  किया जाय। साथ ही विभिन्न कुष्ठ आश्रमों में रहने वाले कुष्ठ रोगियों को सभी आवश्यक सुविधाएं ससमय मुहैया करायी जाय। वे कार्यालय प्रकोष्ठ में आयोजित समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निदेशित कर रहे थे।
कोरोना से उत्पन्न विकट स्थिति में उन्हें भूखे नहीं रहना पड़े, यह सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा कि बिहार शताब्दी कुष्ठ कल्याण योजना कुष्ठ रोगियों को आर्थिक सहायता देने का एक समुचित योजना है। इसकी पात्रता रखने वाले कोई भी कुष्ठ रोगी वंचित नहीं रहें यह नितांत ही आवश्यक है।
उन्होंने बैठक में उपस्थित सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग ममता झा को निर्देश दिया कि योजना के पूर्व से लाभान्वित लाभुकों के अलावे नये सिरे से सर्वे कर नये लाभुकों को भी इस योजना का लाभ दिया जाय। साथ ही जिले में संचालित विभिन्न बालगृहों एवं एडाप्शन सेंटर में रहने वाले बच्चों को किसी भी आवश्यक सामग्री की कमी नहीं हो तथा उनके खाने-पीने की समुचित व्यवस्था करने का भी निदेश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया है। समीक्षा के क्रम में श्रीमती ममता झा द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा ऐसे स्थानों का भ्रमण कर समुचित व्यवस्था बनायी जा रही है।
जिलाधिकारी ने जिला कुष्ठ निवारण पदाधिकारी-सह-अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी सुरेश चन्द्र लाल को निदेश दिया कि कुष्ठ रोगियों की स्वास्थ्य की जांच निरंतर होती रहे। साथ ही उनके बीच आवश्यक दवाओं की उपलब्धता ससमय सुनिश्चित किया जाय।
इस अवसर पर अपर समाहर्ता, नंदकिशोर साह, उप विकास आयुक्त,रवीन्द्र नाथ प्रसाद सिंह उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।