Breaking News

बिहार : तीस के बाद किसानों के खाते में जाएगी राशि। पढ़े पूरा रिपोर्ट..



बिहार राज्य फसल सहायता योजना से किसानों के खाते में तीस अप्रैल के बाद राशि का हस्तांतरण शुरू हो जाएगा। इस योजना के लिए जिले में खरीफ 2019 मौसम में ऑनलाइन 1 लाख 65 हजार 295 आवेदन प्राप्त हुए हैं। इसमें 90 प्रतिशत आवेदनों के सत्यापन का कार्य पूरा कर लिया गया है। शेष दस प्रतिशत आवेदनों के सत्यापन के लिए निर्धारित तिथि तीस अप्रैल तक पूरा कर लिया जाएगा। जिला सहकारिता विभाग को प्राप्त कुल आवेदनों में रैयत से ज्यादा गैर रैयत किसानों ने आवेदन दिया है। विभाग को प्राप्त कुल आवेदनों में 37 हजार 215 रैयत किसानों ने ऑनलाइन आवेदन किया है। वहीं ऑनलाइन आवेदन करनेवाले गैर रैयत किसानों की संख्या 1 लाख 27 हजार 950 है।
धान व मक्का के लिए खरीफ मौसम में मिले हैं आवेदन: खरीफ मौसम में धान व मक्का फसल की सहायता के लिए किसानों ने आवेदन किया है। जिसमें धान के लिए 1 लाख 63 हजार 390 व मक्का के लिए कुल 1905 आवेदन मिले हैं।
फसल क्षति पर मिलती है इतनी राशि:
इस योजना के तहत फसल क्षति 20 प्रतिशत से कम पर किसान को प्रति हेक्टेयर 75 सौ रुपये की दर से भुगतान करने का प्रावधान है। वहीं 20 प्रतिशत से अधिक फसल क्षति पर प्रति हेक्टेयर 10 हजार रुपये की दर से भुगतान किया जाता है। एक किसान अधिकतम दो हेक्टेयर तक का लाभ ले सकते हैं।
किसानों को मिलता है दोहरा लाभ:सिंचित क्षेत्र के लिए प्रति हेक्टेयर 13 हजार 500 रुपये व असिंचित क्षेत्र के लिए 6500 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से इनपुट अनुदान मिलता है। इसमें किसी भी किसान को 1000 रुपये से कम देने का प्रावधान नहीं है। दोनों लाभ किसान उठा सकते हैं। औसत उत्पादन के आधार पर गणना होती है ।

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।