Breaking News

नवादा में दो सगे भाइयों की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या, पुलिस पर पथराव


नवादा में लॉकडाउन के दौरान पुरानी रंजिश को लेकर विवाद में दो सगे भाइयों की कुल्हाड़ी से काट कर हत्या कर दी गयी। घटना शनिवार की देर शाम करीब सात बजे जिले के नक्सल प्रभावित कौआकोल थाना क्षेत्र के सेखोदेवरा गांव की बतायी जाती है। 
मृतक 34 वर्षीय जितेंद्र रविदास व 28 वर्षीय धर्मेंद्र रविदास दोनों सगे भाई थे। वे दोनों सेखोदेवरा गांव के बुधन रविदास के पुत्र थे। पुलिस ने रविवार तड़के कार्रवाई करते हुए आरोपितों में से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। घटना में घायल मृतक की मां बरती देवी व भाई सातो कुमार को इलाज के लिए कौआकोल पीएचसी में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना पर गांव पहुंची पुलिस पर घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने देर से पहुंचने का आरोप लगाकर पथराव कर दिया।
घटनास्थल कौआकोल थाने से महज  तीन किलोमीटर की दूरी पर बताया जाता है। पथराव में पुलिसकर्मियों को मामूली चोट आयीं हैं। अतिरिक्त पुलिसबल के आने पर पुलिस गांव में पहुंची व मौके से बुरी तरह घायल जितेन्द्र रविदास व धर्मेंन्द्र रविदास को कौआकोल पीएचसी में रात करीब आठ बजे भर्ती कराया गया। डाक्टरों ने दोनों को प्राथमिक इलाज के बाद सदर अस्पताल रेफर कर दिया। इनमें से जितेन्द्र रविदास ने रात में रास्ते में दम तोड़ दिया, जबकि उसके भाई धर्मेन्द्र रविदास की सदर अस्पताल में इलाज के दौरान देर रात मौत हो गयी। पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने लाश परिजनों को सौंप दिया। पकरीबरावां के एसडीपीओ मुकेश कुमार साहा ने सर्किल इंस्पेक्टर लालबिहारी पासवान व थानाध्यक्ष मनोज कुमार के साथ रविवार की दोपहर घटनास्थल का निरीक्षण किया व पुलिस को अन्य आरोपितों की गिरफ़्तारी करने का आदेश दिया। 
17 लोगों को बनाया गया है आरोपित
घटना को लेकर मृतक के छोटे भाई सातो कुमार के बयान पर कौआकोल थाने में रविवार को प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। प्राथमिकी में महिलाओं समेत 17 नामजद लोगों को आरोपित किया गया है। पुलिस ने इनमें से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार लोगों में राजेश रविदास की पत्नी चमेलिया देवी, राजेश रविदास की बेटी रिंकू देवी, मुकेश दास की पत्नी प्रियंका देवी व करमू दास का बेटा अरुण दास शामिल हैं। घटना के बाद गांव में दहशत माहौल का बना है। पुलिस की देखरेख में रविवार की दोपहर दोनों का अंतिम संस्कार कराया गया। 
तीन वर्षों से चल रहा है विवाद
सेखोदेवरा गांव के बुधन रविदास व महेश रविदास के बीच पिछले तीन वर्षों से आपसी विवाद चल रहा है। दोनों का घर पड़ोस में है। कभी पानी तो कभी नाली को लेकर दोनों के बीच अक्सर विवाद चलते रहता था। तीन वर्षों पूर्व बुधन रविदास के बेटों ने महेश रविदास के साथ मारपीट की थी। इसे लेकर महेश द्वारा कौआकोल थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। वर्तमान में यह मामला कोर्ट में लंबित  है। केस उठाने को लेकर पूर्व में दोनों के बीच समझौता हुआ। समझौता के तहत पीड़ित पक्ष को मुआवजे के रूप में रुपये भी दिये गये। समझाैता के तहत बुधन रविदास पक्ष के लोगों ने इस बीच जमानत करा लिया। परंतु दोनों के बीच पुरानी रंजिश अब भी बनी थी। पुलिस के मुताबिक शनिवार की शाम जितेन्द्र रविदास घर के आगे चबूतरे पर बैठा था। इस बीच महेश रविदास के लोगों से उसका विवाद हुआ। मामला शांत करा दिया गया। परंतु महेश रविदास के पक्ष के लोगों ने अपने परिजनों को गांव के टोला शिवपुरी से जुटा लिया व जितेन्द्र रविदास पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। बचाने आये धर्मेन्द्र रविदास व अन्य भी हमले में बुरी तरह से घायल हो गये। 
एक ही घर से दो लाशों के उठने से मातम
कल तक हंसता- खेलता बुधन रविदास का परिवार आज बेहद सदमे में है। जिस घर में कल तक किलकारियां गूंजती थीं वहां आज रोने, चीखने व चिल्लाने की आवाजें आ रही हैं। दोनों भाई पेशे से ड्राइवर थे। मृतक जितेन्द्र रविदास नवादा- जमुई जाने वाली एक निजी बस का ड्राइवर था। जबकि धर्मेन्द्र गांव में ही भाड़े का ट्रैक्टर चलाता था। दोनों के परिजन इसी आय से अपनी रोजी- रोटी चलाते थे। परंतु अब इस रोजी- रोटी पर आफत आ पड़ी है। जितेन्द्र रविदास को दो लड़के व दो लड़कियां हैं। जबकि धर्मेन्द्र रविदास को एक लड़का  व एक लड़की है। पुलिस के मुताबिक आरोपित घर छोड़कर फरार हो गये हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। घटना के बाद पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा है। 
दोनों के बीच पुरानी रंजिश चल रही थी। पूर्व में दोनों के बीच विवाद को लेकर मारपीट हुई थी। जिसमें एक केस भी दर्ज कराया गया था। शनिवार की शाम भी दोनों के बीच विवाद व मारपीट हुई। जिसमें दो युवकों की इलाज के क्रम में मौत हो गयी। चार को गिरफ्तार किया गया है। अन्य की गिरफ्तारी का आदेश दिया गया है। मामले का खुलासा अनुसंधान में होगा।
- मुकेश कुमार साहा, एसडीपीओ, पकरीबरावां

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।