HAPPY NEW YEAR 2021

HAPPY NEW YEAR 2021

Breaking News

परसा:-छठ व्रतियों ने कहा - अपने घर में ही करेंगे भगवान भास्कर की अराधना


परसा से विकाश कुमार की रिपोर्ट
लॉकडाउन के कारण इस बार नदी या तालाब के घाट पर चैती छठ का अनुष्ठान नहीं होगा। ऐसे में महिलाओं ने घर में ही पूजा की तैयारी शुरू कर दी है।...


न्यूज परसा: कोरोना वायरस के खौफ के बीच लोक आस्था के महापर्व चैती छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान 28 मार्च से प्रारंभ हो रहा है। ऐसे में अनुष्ठान बड़ी चुनौती बन गई है। लेकिन छठव्रतियों ने लॉकडाउन का समर्थन करते हुए सोशल डिस्टेंसिग पालन करते हुए किसी ने अपने कैंपस तो किसी ने घर की छत पर ही भागवान भास्कर पूजा की तैयारी शुरू कर दी है। प्रखंड के परसौना निवासी व्रती श्रवण शर्मा ने बताया कि छठ व्रत प्रकृति की पूजा है,जिसमें नदी घाट पर जाकर भगवान भास्कर की आराधना होती है।लेकिन इस बार महामारी और सरकार के लॉकडाउन का पालन करते हुए हम सब अपने घर के परिसर में ही अ‌र्घ्य अर्पित करेंगे।उर्मिला देवी,पूनम देवी,राजकुमारी देवी इत्यादि महिलाओं ने ये भी कहा कि घर में ही छठ मैया की पूजा करेंगी। वे अन्य व्रतियों से अपील कर रही हैं कि छठ व्रत घर में ही करें।
इस बीच घरों में पूजा की तैयारी हो रही है।लॉकडाउन के बावजूद व्रतियों के उत्साह में किसी प्रकार की कमी नहीं है। व्रति श्रीकांति देवी बनकेरवा बांध निवासी का कहना है कि छठी मईया कोरोना वायरस को खत्म कर देंगी। उल्लेखनीय हो कि लोक आस्था के महापर्व चैती छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान 28 मार्च को नहाय खाय के साथ शुरू होगा। इसके अगले दिन 29 मार्च को खरना, 30 को सायंकालीन अ‌र्घ्य, 31 को उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य दिया जाएगा।

छठ व्रतियों की सुनें :

_इस वर्ष अपने घर में पूरी आस्था एवं परंपररागत तरीके से छठ व्रत करेंगी। छठी मइया इस महामारी को खत्म कर देंगी। यह हमें पूरा विश्वास है।_
                    - रुखमिनिया देवी

_सरकार के लॉक डाउन का पालन करते हुए चैती छठ परंपरागत तरीके से अपने घर में करेंगे। घर में पोखरा बनाया जाएगा। व्रत के दौरान भी बीमारी के प्रति सजग रहेंगे।_
                सुनीता देवी

_छठ व्रत में इस बार नदी घाट पर न जाकर अपने घर में ही अस्ताचलगामी एवं उदीयमान सूर्य को अ‌र्घ्य दूंगा। तैयारी भी हमने प्रारंभ कर दी है।_
                        -मुन्ना ठाकुर (परसौना)

_हम छठ व्रती सरकार के लॉक डाउन का अक्षरश: पालन करेंगे। पूरी आस्था के साथ छठ व्रत करेंगे। भगवान भास्कर इस संकट को बहुत जल्द ही खत्म करेंगे।_
               -शांति देवी(बनकेरवा निवासी)

कोई टिप्पणी नहीं

बिहार खबर वेबसाइट पर कॉमेंट करने के लिए धन्यवाद।